जब आंखों में आंसू और गुस्सा लिए स्टूडियो पहुंचे थे राजेश खन्ना, मनोज कुमार ने सुनाई सुपरस्टार की कहानी

मनोज कुमार ने एक बार बताया था कि उन्होंने काका के करियर का पूरा सफर देखा है। मनोज कुमार राजेश खन्ना को तब से जानते थे जब राजेश खन्ना इंडस्ट्री में आए ही थे और काम की तलाश में रहते थे।

मनोज कुमार (Manoj Kumar) और राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) बहुत अच्छे दोस्त रहे हैं। राजेश खन्ना और मनोज कुमार एक फिल्म में साथ काम करने वाले थे जिसका नाम था ‘उपकार’। लेकिन फिर ऐसा कुछ हुआ कि राजेश खन्ना इस फिल्म में मनोज कुमार के साथ काम नहीं कर पाए। ये वो दौर था जब राजेश खन्ना नए नए इंडस्ट्री में आए थे। उस वक्त जब मनोज कुमार के साथ वह काम नहीं कर पाए तो वह बहुत ही अपसेट हो गए थे।

मनोज कुमार ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्होंने काका के करियर का पूरा सफर देखा है। मनोज कुमार राजेश खन्ना को तब से जानते थे जब राजेश खन्ना इंडस्ट्री में आए ही थे। मनोज कुमार ने एबीपी को बताया था कि ‘राजेश खन्ना को 8-10 प्रोड्यूसर्स ने साइन किया हुआ था। उस वक्त यूनाइटेड प्रोड्यूसर्स का ग्रुप हुआ करता था। वहीं मुझे मेरे असिस्टेंट ने राजेश खन्ना से मिलवाया था।’

मनोज कुमार को भा गए थे राजेश खन्ना: मनोज कुमार ने बताया था- ‘मुझे राजेश खन्ना बहुत अच्छे लगे थे। उस वक्त मैं फिल्म उपकार बना रहा था। राजेश खन्ना की आवाज भी अच्छी थी, उन्हें स्टेज का भी एक्सपीरियंस था। मैं नए लोगों से काम भी लेना चाहता था। 3 से 4 महीने तक वह मेरे घर आते रहे। हम फिल्में भी साथ देखते थे। वह परिवार के सदस्य की तरह आया जाया करते थे।’

जब गुस्से में स्टूडियो आए राजेश खन्ना: उन्होंने आगे बताया कि फिल्म शूटिंग से पहले एक दिन हम स्टूडियो में बैठे थे। ‘मेरे देश की धरती सोना उगले’ गाने की रिकॉर्डिंग चल रही थी। उस वक्त राजेश खन्ना 9 बजे से लेकर अगले दिन 4 बजे तक गाने की रिकॉर्डिंग पर ही मेरे साथ थे। फिल्म का सेट राजकपूर स्टूडियो में लगा हुआ था। तो एक दिन वह सुबह-सुबह आए और बैठे। मैंने पूछा क्या बात है आप सुबह सुबह आए। आंखों में आंसू भरे और गुस्से में मैंने उन्हें देखा, तो पूछा -काका क्या हुआ? तो गुस्से में उन्होंने उन प्रोड्यूसर्स को बहुत गाली दी। तो मैंने कहा भाई क्यों गाली दे रहे हो उनको ये तो सब जाने माने नाम हैं। तो वो बोले कि उनहोंने कहा कि साहब आप बाहर काम नहीं कर सकते ये मेरा एग्रीमेंट है। मैंने कहा कि फिल्म लाइन में लिखित एग्रीमेंट हो या न हो लेकिन जुबान भी होती है।

उन्होंने बताया कि राजेश बहुत अपसेट हुए और बोले कि मुझे आपके साथ काम करना है। मैंने आपकी बहुत फिल्में देखी हैं। तब मैंने कहा कि भगवान फिर मौका देगा। बता दें, फिल्म उपकार के लिए राजेश खन्ना को मनोज कुमार ने साइन किया था। मनोज ने बताया था कि उस वक्त इंडस्ट्री में सब वर्बली चलता था।

मनोज ने कहा था- मैंने उनसे कहा कि हौंसला नहीं छोड़ते, तो वो बोले- आपका सेट लगा हुआ है, मुझे आपकी चिंता है। तब मैंने कहा कि चिंता मत करो, ईश्वर मुझे यहां तक लाया है तो ये चिंता भी दूर हो जाएगी। अब मेरा सेट तो लगा था- बहुत लोगों ने कहा कि इसको ले लो उसको ले लो। इसके बाद फिर प्रेम चोपड़ा को फोन किया गया और फिल्म में काम करने की बात उनसे हुई।

मनोज कुमार बताते हैं-‘ इसके बाद राजेश जी भी फिल्मों में काम करने लगे। धीर-धीर उन्हें सफलता मिली। फिर राजेश खन्ना ने प्रथम पायदान पर पांव रखा। फिर पहली बार प्रेस ने उनके लिए नया शब्द ढूंढ निकाला ‘सुपरस्टार’। आज भी उन्हें प्रथम सुपरस्टार माना जाता है।’