जब गुलजार ने ए.आर रहमान के लिए गाना लिखने से कर दिया था इनकार, जानिये क्या थी वजह

मशहूर गीतकार गुलजार ने एक बार ए.आर रहमान के लिए गाना लिखने से मना कर दिया था। इस बात का खुलासा खुद उन्होंने फिल्मफेयर को दिए इंटरव्यू में किया था।

gulzar, ar rahman, गुलजार ने जब ए.आर रहमान के लिए गाना लिखने से कर दिया था मना (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

मशहूर गीतकार, स्क्रीनराइटर, लेखक और निर्देशक गुलजार का आज 87वां जन्मदिन है। उनके जन्मदिन के इस खास मौके पर फैंस से लेकर बॉलीवुड सितारे भी उन्हें खूब बधाइयां दे रहे हैं। चाहे फिल्म हो या गाना, कविता हो या शायरी, गुलजार ने अपने लेखन से लोगों का खूब दिल जीता है। यूं तो अपने करियर में गुलजार ने कई बॉलीवुड सितारों के साथ काम किया है, लेकिन जब मशहूर सिंगर और कंपोजर ए.आर रहमान ने उनसे गीत लिखने के लिए कहा तो उन्होंने साफ इंकार कर दिया था।

ए.आर रहमान से जुड़ी इस बात का खुलासा खुद गुलजार ने ‘जिया जले: द स्टोरीज ऑफ सॉन्ग्स’ को लेकर फिल्मफेयर को दिए इंटरव्यू में किया था। गुलजार ने बताया था कि ए.आर रहमान ने उनसे एक अतिरिक्त गाना लिखने के लिए कहा था, जिसे मना करते हुए उन्होंने कहा था, “मुझे डर है, मैं ऐसे नहीं लिख सकता हूं। मुझे वक्त चाहिए होगा।”

गुलजार के मना करने के बाद ए.आर रहमान को गीतकार वैरामुत्तु से बात करनी पड़ी थी। गुलजार का मानना था कि उन्हें ऐसे लेखन के लिए थोड़ा वक्त चाहिए होता है। अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि किसी गाने को लिखने के लिए उन्हें सबसे पहले स्क्रिप्ट की जरूरत होती है, क्योंकि वह ही उन्हें लेखन के लिए गाइड करती है।

इससे इतर गुलजार और ए.आर रहमान ने एक साथ कई प्रोजेक्ट के लिए काम किया है। अपने एक इंटरव्यू में गुलजार ने ए.आर रहमान को बाल कृष्ण बताया था। गीतकार ने कहा था, “घुंघरैले बालों के कारण ए.आर रहमान बिल्कुल कृष्ण लगते थे। कई बार हम उन्हें बाल भगवान भी कहते थे। अगर वह एयरपोर्ट जा रहे हैं और रास्ते में दरगाह देखते हैं तो वहां जाकर प्रार्थना जरूर करते हैं।”

बता दें कि गुलजार और ए.आर रहमान ने ‘जय हो’ सॉन्ग के लिए भी साथ काम किया था। जहां एक तरफ गुलजार ने गाने के लीरिक्स लिखे थे तो वहीं ए.आर रहमान ने गाने के संगीत दिये थे। इस बारे में बात करते हुए गुलजार ने कहा था कि ‘जय हो’ को उसके शब्दों के लिए नहीं बल्कि ट्यून के लिए याद रखा जाएगा।