जब CM नाकाबिल हो जाए तो वो PM मटेरियल हो जाता है- JDU नेता ने नीतीश कुमार को बताया PM मैटेरियल तो बोले पुण्य प्रसून बाजपेयी

JDU नेता उपेन्द्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार को पीएम मटेरियल कहा था। इसी बात को लेकर वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने जेडीयू पर निशाना साधा है।

nitish kumar, nitish kumar pm material, upendra kushwaha jdu नीतीश कुमार को JDU के कई नेता PM मटेरियल बता चुके हैं (Photo-File)

जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के महासचिव के सी त्यागी के बाद अब पार्टी के वरिष्ठ नेता उपेंद्र कुशवाहा पिछले कुछ समय से नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को पीएम मटेरियल बताते दिख रहे हैं। हाल ही में पार्टी मीटिंग में नीतीश कुमार को पीएम मटेरियल बताते हुए कुशवाहा ने दावा किया था कि फिलहाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं लेकिन भविष्य में क्या होगा कोई नहीं जानता। इसी बात को लेकर वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने जेडीयू पर निशाना साधा है।

अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट में बाजपेयी ने लिखा, ‘ग़ज़ब…. जब सीएम नाकाबिल हो जाए तो वो पीएम मैटेरियल हो जाता है।’

पत्रकार के इस ट्वीट पर यूजर्स की मिली-जुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। निरंजन कुमार नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘सत्ता में आए नीतीश कुमार को 20 साल हो गए और 20 सालों में बिहार के बाढ़ की समस्या हो या सड़कों की, जस की तस बनी हुई है। थोड़ा बहुत सुधार से कुछ नहीं होता।बेहिसाब आबादी के ऊपर संसाधन भी जुटाना पड़ता है।’

कॉरपोरेट साधु नाम के एक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, ‘बिना मेहनत, कम समय में ज्यादा पैसा कमाने का यही तरीका है।’ गिरिजा प्रसाद साह नाम के यूजर ने व्यंगात्मक लहजे में पूछा, ‘पीएम ज्यादा काबिल हो जाए तो?’

बहरहाल, इस पूरे विवाद पर अब नीतीश कुमार ने चुप्पी तोड़ी है। मंगलवार को उन्होंने कहा कि ये सब बेकार की बातें हैं जिन पर चर्चा नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘पार्टी की मीटिंग में नेता लोगों को जो मन में आता है, वो बोल देते हैं। हमारी पार्टी मीटिंग इसके लिए नहीं थी, दूसरे कामों के लिए बुलाई गई थी। पार्टी के किसी नेता के बोलने का मतलब यह नहीं कि ये पूरी पार्टी का निर्णय है। इसे लेकर क्षमा कीजिएगा, हम इन सब बातों को नहीं जानते।’