जलती चिताओं के बीच दिल्ली में मोदी महल बना…कोरोना संकट के बीच PM मोदी पर बरसे बॉलीवुड एक्टर

कोरोना हालातों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कड़ा वार करते हुए सेंट्रल विस्टा प्रॉजेक्ट पर केआरके ने पोस्ट कर कहा- ’50 साल के बाद जब इतिहास की..

KRK, Kamal R Khan, PM Narendra Modi, KRK Blast Out on PM Modi, PM Narendra Modi palace,

Kamal R Khan: बॉलीवुड एक्टर कमाल आर खान उर्फ केआरके ने ‘सेंट्रल विस्टा प्रॉजेक्ट’ पर बात करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। कोरोना हालातों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कड़ा वार करते हुए सेंट्रल विस्टा प्रॉजेक्ट पर केआरके ने पोस्ट कर कहा- ’50 साल के बाद जब इतिहास की किताबों में सवाल होगा? कि 2021-22 में लाखों जलती चिताओं के बीच, भारत की राजधानी दिल्ली में क्या बना था? जवाब होगा:- मोदी महल!’

केआरके ने एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा- ‘विदेशी से अब तक भारत की मदद के लिए लगभग 100 हवाई जहाजों में 1000 टन से अधिक चिकित्सा उपकरण और दवाएं भेजी गई हैं। ऑक्सीजन अलग से! लेकिन अब भक्त यह नहीं कह रहे हैं कि विदेशी हमारे आंतरिक मामले में हस्तक्षेप क्यों कर रहे हैं?’

अपने अगले पोस्ट में केआरके ने कहा- ‘आज इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा! इंसान को ऑक्सीजन न देना बहुत बड़ा अपराध है। यह नरसंहार के बराबर है, अगर लोग ऑक्सीजन के बिना मर रहे हैं।’ केआरके आगे बोले- ‘मैं 100% जिम्मेदारी के साथ कहना चाहता हूं कि मैं ऐसे समाज में नहीं रहना चाहता, जहां मुझे ऑक्सीजन न मिलने के कारण मरना पड़े।’

केआरके ने अपने ट्वीट में जो सवाल किए उस पर सौरभ तिवारी नाम के यूजर बोले- आपने कितने ऑक्सीजन सिलेंडर दिए है मरीजों को? एक अन्य ट्वीट के जवाब में ऐसपी सिंह नाम के शख्स ने कहा- ये देश केवल भारत के फेवर्स को वापसी कर रहे हैं। जो वैक्सीन भेजी गई थीं उसको लेकर। लेकिन चम्चे चम्चे ही रहेंगे। वो ये सब बोलेंगे ही।

एक ने कहा- ओह आपके कहने का मतलब है कि जब भारत ने विदेशो को वैक्सीन दी थी तब भारत क्या दखलअंदाजी कर रहा था? कुछ कॉमन सेंस का इस्तेमाल करें, क्योंकि आप इसे खरीद नहीं सकते हैं। मनीष नाम के यूजर ने कहा- मुझे लगता है आपका आईक्यू थोड़ा गड़बड़ है जो समझ नहीं पा रहा है कि वैश्विक स्तर की महामारी और डोमेस्टिक इशू में क्या फर्क होता है।

मोना कुमारी नाम की महिला यूजर बोलीं- केआरके क्या आपको इस बात का जरा भी अंदाजा है कि हमने उनकी कितनी मदद की है औऱ उन्हें कितना सपोर्ट किया है?