जिम्बाब्वे के खिलाफ आउट होने पर कपिल देव से छिपने लगे थे खिलाड़ी, ऐसे जीता था 1983 का वो मैच

1983 में जिम्बाब्वे के खिलाफ हुए मैच में कपिल देव ने 175 नाबाद बनाए थे। लेकिन इससे पहले भारत के 17 रन पर 5 आउट हो गए थे।

Kapil Dev, Indian Cricket पूर्व क्रिकेटर कपिल देव (फाइल फोटो)

बॉलीवुड एक्टर रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण स्टारर फिल्म ’83’ रिलीज होने वाली है। फिल्म की कहानी 1983 में हुए क्रिकेट वर्ल्ड कप पर आधारित है। रणवीर को फिल्म में कपिल देव के किरदार में देखा जा सकता है। ये पहला मौका था जब भारतीय क्रिकेट टीम ने वर्ल्ड कप उठाया था। लेकिन इस दौरान एक मैच ऐसा हुआ था, जिसमें कपिल देव ने करिश्माई पारी खेली थी। उस दौरान क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे पूर्व क्रिकेटर कीर्ति पाटिल ने ‘The Kapil Sharma Show’ में एक किस्सा सुनाया था।

कीर्ति पाटिल ने बताया था, ‘कपिल देव बड़े हिटर थे। लेकिन जिम्बाब्वे के खिलाफ हुए उस मैच में कपिल ने बहुत धीमी शुरुआत की और अंत बिल्कुल तेजी के साथ बल्लेबाजी करके किया था। इन्होंने पहले एक-एक रन लिया। उस दिन 17 रनों पर भारत के 5 विकेट गिर चुके थे। उसमें एक मैं भी था और हम लोग कप्तान के डर से सुनील गावस्कर के पीछे छिप गए थे। हमने देखा कि 10 मिनट के बाद एक ताली और 10 मिनट के बाद दूसरी ताली। जैसे-जैसे तालियां बढ़ती गईं, हम लोग ऊपर उठते गए। हमने देखा कि कपिल को पचास हो गए।’

कीर्ति पाटिल आगे बताते हैं, ‘मेरे छोटे करियर में अगर किसी ने अच्छी पारी खेली हो और टीम को जीत की तरफ लेकर गए हों। तो वो पारी सिर्फ कपिल देव की थी। इन्होंने नाबाद 175 रन बनाए थे और इसके बाद हमारा रास्ता बदल गया था। हम लोगों में विश्वास इनकी पारी देखने के बाद ही आया।’ श्रीकांत ने बताया था, ‘अगर हमने 1983 में हमने वर्ल्ड कप जीता तो उसके पीछे सिर्फ एक ही व्यक्ति जिम्मेदार था और वो कपिल देव ही थे। हम लोग डरे हुए थे। लेकिन जब ये ड्रेसिंग रूम में आकर हंसे तो हमारी जान में जान आई।’

कपिल देव कहते हैं, ‘हमारी टीम में श्रीकांत बिल्कुल वीरेंद्र सहवाग की तरह खेलता था। हम लोगों ने इन्हें खेलने की पूरी चुनौती दे दी थी। जब फाइनल के पहले टॉस हुआ तो मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था क्योंकि पिच बहुत ग्रीन थी। मुझे लग रहा था कि जैसे ये पिच वेस्टइंडीज के प्लेयर्स के लिए बनाई है। वो लोग बहुत तेज गेंद मारते थे। उन्होंने हमें पहले बैटिंग करने के लिए कहा। मैं बैटिंग करने के लिए उतरा भी और इसके बाद जो भी हुआ वो इतिहास ही बन गया।’