जुल्म की इंतेहा हो गई, मोदी-योगी की सरकार गिरानी होगी- बीजेपी पर भड़के एक्टर, आप नेता ने भी साधा निशाना

लखीमपुर हिंसा: कमाल राशिद खान ने बीजेपी की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि अब बीजेपी के जुल्म की इंतेहा हो गई। लोगों को अब नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ की सरकार गिरा देनी चाहिए।

yogi adityanath, narendra modi, sanjay singh कमाल राशिद खान ने मोदी-योगी पर निशाना साधा है (photo-File)

लखीमपुर खीरी हिंसा में 8 लोगों की मौत को लेकर बीजेपी सरकार विरोधियों के निशाने पर है। किसानों को प्रदर्शन के दौरान गाड़ी से कुचलने के मामले में बीजेपी के गृह राज्य मंत्री और स्थानीय सांसद अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा का नाम सामने आ रहा है। इन आरोपों से हालांकि बीजेपी मंत्री ने इनकार किया है और कहा है कि अगर उनके बेटे इसमें संलिप्त पाए गए तो वो अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

इधर कांग्रेस ने मंगलवार को हिंसा की जांच पर सवाल उठाया है और कहा है कि अभी तक आशीष मिश्रा को किसानों को कुचलने के अपराध में गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया और मंत्री को पद से बर्खास्त क्यों नहीं किया गया। सोशल मीडिया पर भी लोग इस मसले पर बीजेपी को घेर रहे हैं जिनमें बॉलीवुड एक्टर कमाल राशिद खान (KRK) भी शामिल हैं।

केआरके ने बीजेपी की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि अब बीजेपी के जुल्म की इंतेहा हो गई। लोगों को अब नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ की सरकार गिरा देनी चाहिए। अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘हर हिंदुस्तानी समझ ले कि अब बीजेपी के जुल्म की इंतेहा हो गई है। अब खुलेआम आवाज़ उठानी ही होगी, मोदी-योगी की सरकार गिरानी ही होगी।’

कमाल राशिद खान ने अजय मिश्रा के किसानों को चेतावनी वाले एक बयान पर भी निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘अजय मिश्रा ने कैमरा के सामने कहा था कि लोग मेरे पॉवर और मेरे इतिहास के बारे में जानते हैं। इसका मतलब ये हुआ कि वो खुद क गुंडा कह रहे थे। उन्होंने कहा- किसान सुधर जाएं नहीं तो मैं दो मिनट में सुधार दूंगा, लखीमपुर में रहने नहीं दूंगा। ये किसी सासंद की भाषा है? शर्मनाक!’

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर फिल्ममेकर विनोद कापड़ी भी लगातार सक्रिय हैं और बीजेपी सरकार को घेर रहे हैं। दरअसल छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सीतापुर में पुलिस हिरासत में बंद प्रियंका गांधी से मिलने सीतापुर आ रहे थे लेकिन उन्हें लखनऊ एअरपोर्ट पर ही रोक दिया गया। इसी बात को लेकर कापड़ी ने ट्वीट किया, ‘और अभी एक हफ्ते पहले ही नरेंद्र मोदी अमेरिका में भारत के जीवंत लोकतंत्र की दुहाई दे रहे थे।’

इधर आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने भी बीजेपी को घेरा है। संजय सिंह घटना के बाद देर रात घायल किसानों से मिलने लखीमपुर जा रहे थे लेकिन उन्हें उत्तर प्रदेश की पुलिस ने रोक दिया था। उन्होंने लखीमपुर हिंसा को लिंचिंग की घटना करार देते हुए ट्वीट किया है, ‘बताइए कि लिंचिंग को कब सामान्य बना दिया गया? साल 2014 के बाद। पता कीजिए जाकर।’