टीम इंडिया को खली भुवनेश्वर कुमार की कमी, भारतीय दिग्गज ने गिनाईं इंडियन पेसर की 3 खासियतें; देखें Video

एक क्रिकेट प्रशंसक ने पूछा था कि क्या मौजूदा परिस्थितियों में टीम इंडिया को भुवनेश्वर कुमार की कमी खल नहीं रही है? आकाश चोपड़ा को लगता है कि भुवनेश्वर कुमार साउथम्प्टन में परफेक्ट हो सकते थे और कीवी बल्लेबाजों को परेशान कर सकते थे।

भुवनेश्वर को श्रीलंका दौरे पर जाने वाली भारतीय टीम के लिए चुना गया है।

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड की पहली पारी 249 रन पर खत्म हुई। भारत की पहली पारी 217 रन पर सिमटी थी। इस लिहाज से न्यूजीलैंड पहली पारी में 32 रन की लीड लेने में सफल रहा। भारत की ओर से मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा ने शानदार गेंदबाजी की। शमी ने 4 और इशांत ने 3 विकेट चटकाए।

हालांकि, कप्तान केन विलियमसन की धैर्यपूर्ण और टिम साउदी की आक्रामक पारी के कारण न्यूजीलैंड बढ़त लेने में सफल रहा। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर आकाश चोपड़ा का मानना है कि इस मैच में टीम इंडिया को भुवनेश्वर कुमार की कमी खल रही है। दरअसल, साउथम्प्टन की पिच पर स्विंग गेंदबाजी के लिए काफी मुफीद है। उनका मानना है कि न्यूजीलैंड के कॉलिन डिग्रैंडहोम, टिम साउदी के मुकाबले भारतीय खेमे में एक भी वास्तविक स्विंग गेंदबाज नहीं है। इशांत शर्मा ही थोड़ा बहुत कीवी गेंदबाजों के आसपास ठहरते हैं।

आकाश चोपड़ा से एक क्रिकेट प्रशंसक ने पूछा था कि क्या मौजूदा परिस्थितियों में टीम इंडिया को भुवनेश्वर कुमार की कमी खल नहीं रही है? आकाश ने अपने यूट्यूब चैनल पर सवाल के जवाब में कहा, ‘निश्चित रूप से खल रही है। स्विगिंग कंडीशंस का इस्तेमाल तभी हो सकता है, जब आपके हाथ से स्विंग जैसी गेंद निकलती हो। कॉलिन डिग्रैंडहोम, टिम साउदी, काइल जैमीसन, ट्रेंट बोल्ट क्रमशः स्विंग कराने में माहिर हैं। इशांत शर्मा फिर भी चलो इर्द-गिर्द हैं। बाकी हमारे दोनों गेंदबाज बहुत नीचे हैं। वे स्विंग नहीं कराते, सीम बॉलर्स हैं।’

आकाश चोपड़ा को लगता है कि भुवनेश्वर कुमार साउथम्प्टन में परफेक्ट हो सकते थे और कीवी बल्लेबाजों को परेशान कर सकते थे। उन्होंने कहा, ‘यह एक समस्या जरूर होती है कि जो ज्यादा तेज होते हैं उनकी स्विंग थोड़ी कम होती है। जिसके हाथ से सीम बहुत अच्छी निकलती है, जो सीम बॉलर होता है वह स्विंग बॉलर नहीं होता है। हां, थोड़ा तिरछा करके सीम से स्विंग करा सकता है, लेकिन भुवनेश्वर कुमार इसमें मास्टर हैं। मैं तो कहता हूं कि भुवनेश्वर कुमार, दीपक चाहर दोनों के नाम पर इस दौरे के लिए विचार किया जाना चाहिए था।’

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘भारत को निश्चित रूप से भुवनेश्वर कुमार की कमी खल रही है। उनमें तीन खास बाते भी हैं। पहली बात कि वह नई गेंद से कमाल करते हैं। दूसरी वह लंबे-लंबे स्पैल डालने में सक्षम हैं। इनकी तीसरी खासियत यह है कि वह बैटिंग भी कर लेते हैं। मतलब बैटिंग भी कर देंगे, बॉलिंग भी करेंगे, स्विंग भी करा लेंगे, लंबे स्पैल भी डाल लेंगे। वह टीम इंडिया के लिए सबकुछ कर सकते हैं।’

बता दें कि भुवनेश्वर कुमार को श्रीलंका दौरे पर जाने वाली भारतीय टीम के लिए चुना गया है। वह टीम के उप कप्तान हैं। टीम इंडिया श्रीलंका दौरे पर सीमित ओवर फॉर्मेट की सीरीज खेलेगी।