टी20 विश्व कप को लेकर कमिन्स का बड़ा बयान, बोले- बेहतर यही होगा कि वहां न खेला जाए टूर्नामेंट

कमिन्स ने कहा “यदि यह भारतीय संसाधनों पर भारी पड़ता है या वहां इसका आयोजन करना सुरक्षित नहीं है तो मुझे नहीं लगता कि फिर इसे वहां आयोजित करना सही होगा। यह पहला सवाल है जिसका उत्तर देने की जरूरत है।”

T20 World Cup, Pat Cummins, kkr, IPL, ICC, Cummins, covid, indiam play in UAE, cricket news, australia team, jansatta

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिन्स का मानना है कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण यदि ICC टी20 विश्व कप का आयोजन भारत में करना असुरक्षित है तो बेहतर यही होगा कि उसे संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में आयोजित किया जाए।

जैव सुरक्षित वातावरण (बायो बबल) में कई मामले पाये जाने के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) को स्थगित कर दिया गया जिसके बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की इस प्रतियोगिता के आयोजन पर भी सवालिया निशान लग गया है क्योंकि तब भारत में कोविड-19 की तीसरी लहर की संभावना जतायी जा रही है। कमिन्स ने ‘ऐज’ नामक समाचार पत्र से कहा, “यदि यह भारतीय संसाधनों पर भारी पड़ता है या वहां इसका आयोजन करना सुरक्षित नहीं है तो मुझे नहीं लगता कि फिर इसे वहां आयोजित करना सही होगा। यह पहला सवाल है जिसका उत्तर देने की जरूरत है।”

कमिन्स ने कहा कि क्रिकेट अधिकारियों को भारत सरकार से बात करके सर्वश्रेष्ठ फैसला करना चाहिए। उन्होंने कहा, “संभवत: अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगा। अभी इसमें छह महीने का समय है। क्रिकेट अधिकारियों के लिये यह प्राथमिकता होनी चाहिए कि वह भारत सरकार से बात करके यह देखे कि भारतीय लोगों के लिये सबसे अच्छा क्या है।”

कमिन्स ने कहा, ‘‘पिछले साल यूएई में आईपीएल का आयोजन शानदार रहा लेकिन लाखों लोगों का मानना था कि इसे इस बार भारत में खेला जाना चाहिए। इसलिए आप क्या करते हैं। आपको दोनों पक्ष देखने होते हैं। उन्होंने सर्वश्रेष्ठ संभावित सलाह लेने के बाद टूर्नामेंट आयोजित किया।”

बता दें BCCI के सूत्रों का भी कहना था कि इस साल अक्टूबर-नवंबर में देश में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप को यूएई शिफ्ट कर सकता है। बीसीसीआई के अधिकारियों की हाल में केंद्र सरकार के कुछ शीर्ष अधिकारियों से चर्चा हुई तथा टूर्नामेंट को यूएई में आयोजित करने पर काफी हद तक सहमति बन गई है।

यह टूर्नामेंट नौ स्थानों पर खेला जाना है, जिनकी घोषणा अभी नहीं की गई है। बीसीसीआई के सूत्रों ने कहा, ‘आईपीएल का चार सप्ताह के अंदर निलंबन इस बात का संकेत है कि जबकि देश पिछले 70 वर्षों में अपने सबसे बुरे स्वास्थ्य संकट से जूझ रहा है, तब इस तरह की वैश्विक प्रतियोगिता की मेजबानी करना वास्तव में सुरक्षित नहीं होगा।’