टोक्यो पैरालंपिक में आज भारत के लिए मेडल की बारिश, विनोद कुमार ने दिलाया तीसरा पदक

टोक्यो पैरालंपिक में आज राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर भारत के लिए मेडल की बारिश हो गई। भाविनाबेन पटेल ने टेबल टेनिस में सिल्वर, निषाद कुमार ने ऊंची कूद में सिल्वर और विनोद कुमार ने डिस्कस थ्रो में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर आज देश को तीन मेडल दिलाए।

tokyo-paralympics-2020-vinod-kumar-won-bronze-in-discuss-throw-india-won-third-medal-on-national-sports-day-after-bhavina-and-nishad-kumar डिस्कस थ्रोअर विनोद कुमार ने टोक्यो पैरालंपिक में आज ब्रान्ज मेडल जीता (Source: Twitter SAI)

टोक्यो पैरालंपिक में भारत के लिए रविवार का दिन ऐतिहासिक रहा है। भारत ने जारी पैरालंपिक खेलों में आज दिन का अपना तीसरा मेडल जीता है। डिस्कस थ्रोअर विनोद कुमार ने अपने 19.91 मीटर के बेस्ट थ्रो के साथ भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता है।

राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर भारत को खेल के मैदान से एक के बाद एक खुशखबरी आज मिली हैं। दिन की शुरुआत में भाविनाबेन पटेल ने टेबल टेनिस में सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास रचा।

इसके बाद पैरा एथलीट निषाद कुमार ने ऊंची कूद में 2.06 मीटर के अपने एशियन रिकॉर्ड के साथ सिल्वर मेडल जीतक देश को दूसरा मेडल दिलाया। अब विनोद कुमार ने डिस्कस थ्रो में शानदार प्रदर्शन करते हुए देश के लिए तीसरा मेडल जीता और नंबर तीन पर रहते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया।

शुरुआत पांच थ्रो के बाद नंबर दो पर चल रहे विनोद से सिल्वर मेडल की उम्मीदें लगाई जा रही थीं। अपने छठे और आखिरी अटेम्पट में उन्होंने 19.81 मीटर तक डिस्कस फेंका जिसके बाद भी उनका बेस्ट 19.91 मीटर ही रहा। आखिरी राउंड में विनोद नंबर तीन पर खिसक गए और अंत में वे इसी पोजीशन पर रहे।

पैरालंपिक खेलों के इतिहास में ये भारत का 15वां मेडल है। इससे पहले भारत ने 11 पैरालंपिक खेलों में 12 मेडल अपने नाम किए थे। वहीं इसी पैरालंपिक में भारत ने अब तक तीन मेडल जीत लिए हैं।

अगर भारत के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बात करें तो भारत ने रियो पैरालंपिक में चार मेडल जीते थे। जिसमें दो रजत, एक स्वर्ण और एक कांस्य शामिल था। भारत अगर इस बार दो मेडल और जीत लेता है जो कि संभव है तो भारत इतिहास रचते हुए पैरालंपिक खेलों के इतिहास में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगा। इस बार भारत की तरफ से 9 इवेंट्स के लिए 54 पैरा खिलाड़ियों का दल टोक्यो भेजा गया है। जो अबतक का सबसे बड़ा दल है।