‘ठोंक दो…’, वाली नीति पर हुआ सवाल, CM योगी ने दिया यह जवाब

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज प्रदेश भर में अपराधी थानों में और पुलिस अधिकारी के सामने जाकर आत्मसमर्पण कर रहे हैं और कह रहे हैं कि हम ठेला लगाकर सब्जी का व्यापार कर लेंगे लेकिन अपराध की दुनिया में कदम नहीं रखेंगे।

yogi adityanath , BJP , love jihad

उत्तरप्रदेश में योगी आदित्यनाथ के शासनकाल में ढ़ेरों मुठभेड़ हुए हैं। लगातार हो रहे मुठभेड़ की घटनाओं को लेकर लोग इस योगी आदित्यनाथ की ठोको नीति भी कह रहे हैं। ठोको नीति को लेकर जब यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से सवाल पूछा गया तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि प्रदेश की सुरक्षा के लिए जो भी करना होगा वो हम करेंगे।

दरअसल आजतक चैनल पर आयोजित सीधी बात कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज प्रदेश भर में अपराधी थानों में और पुलिस अधिकारी के सामने जाकर आत्मसमर्पण कर रहे हैं और कह रहे हैं कि हम ठेला लगाकर सब्जी का व्यापार कर लेंगे लेकिन अपराध की दुनिया में कदम नहीं रखेंगे। इस दौरान जब एंकर प्रभु चावला ने कहा कि अब आप नर्म हो गए हैं तो जवाब देते हुए आदित्यनाथ ने कहा कि ना मैं पहले गर्म था और ना ही नर्म था। जो संतुलन पहले था वह आज भी है।

इसके अलावा जब उनसे पूछा गया कि पांचवे साल में आपकी ठोको नीति में बदलाव हो गया है और मुख़्तार अंसारी जैसे कई लोग प्रदेश से बाहर शरण लिए हैं। इसका जवाब देते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तरप्रदेश की आबादी 24 करोड़ के आस पास है और यहाँ हर किसी को रहने का हक़ है। बशर्ते वह कानून के दायरे में रहे। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश के हित के लिए जो भी आवश्यक होगा सरकार कानून के दायरे में रह कर उस काम को करेगी।

कार्यक्रम में बंगाल में जय श्री राम के नारे के विवाद को लेकर एंकर प्रभु चावला ने सवाल पूछते हुए कहा कि ममता बनर्जी तो जय सिया राम का नाम देती हैं और आप लोग जय श्री राम बोलते हैं। इसपर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जय सिया राम और जय श्री राम में अंतर नहीं है। यह सिर्फ समझ समझ की बात है। बंगाल परिवर्तन की राह पर है। जो विकास भारतीय जनता पार्टी के राज में उत्तर प्रदेश में हुआ है उसी तरह के विकास का लाभ बंगाल के लोगों को भी मिलना चाहिए।