डेढ़ साल से फरार है यूपी पुलिस का मोस्ट वॉटेंड क्रिमिनल बदन सिंह बद्दो, सोशल मीडिया से चुनौती दे रहा ढाई लाख का इनामी अपराधी

ढाई लाख का इनामी कुख्यात गैंगस्टर बदन सिंह बद्दो के नाम से चल रहे फेसबुक अकाउंट से कई तरह के आपत्तिजनक पोस्ट किए गए हैं। फेसबुक पोस्ट में उत्तरप्रदेश पुलिस के पूर्व डीजीपी ब्रजलाल समेत कई वरीय अधिकारियों को निशाना बनाया गया है।

साल 2019 में बदन सिंह बद्दो को कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था। पेशी के बाद बदन सिंह बद्दो ने साथ आए पुलिसकर्मियों को दारू पिलाया और चकमा देकर फरार हो गया। (एक्सप्रेस फोटो)

साल 2019 में पुलिस को चकमा देकर कस्टडी से भागने वाला उत्तरप्रदेश का खूंखार गैंगस्टर बदन सिंह बद्दो फेसबुक पेज के जरिए सामने आया है। फेसबुक पर पोस्ट लिखकर बदन सिंह बद्दो उत्तरप्रदेश पुलिस के कई वरीय अधिकारियों को चुनौती दे रहा है। पुलिस ने बदन सिंह बद्दो पर ढाई लाख का इनाम घोषित कर रखा है। 

ढाई लाख का इनामी कुख्यात गैंगस्टर बदन सिंह बद्दो के नाम से चल रहे फेसबुक अकाउंट से कई तरह के आपत्तिजनक पोस्ट किए गए हैं। फेसबुक पोस्ट में उत्तरप्रदेश पुलिस के पूर्व डीजीपी ब्रजलाल समेत कई वरीय अधिकारियों को निशाना बनाया गया है। पोस्ट के जरिए पूर्व डीजीपी ब्रजलाल पर मेरठ के व्यापारियों से मिल कर अवैध काम करने और अपने पद का दुरूपयोग करने का आरोप लगाया गया है।

बदन सिंह बद्दो के नाम से बने फेसबुक अकाउंट के जरिए कहा गया है कि पूर्व डीजीपी ब्रजलाल ने गैंगस्टर बद्दो पर कई तरह के झूठे केस बनाए और उसकी हत्या करवाने की भी कोशिश की गई। इसके अलावा फेसबुक पोस्ट में आईपीएस अधिकारी नवनीत सिकेरा का भी नाम लिया गया है। फेसबुक पोस्ट के जरिए उत्तरप्रदेश पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर बदन सिंह बद्दो चुनौती देने का प्रयास कर रहा है।

हालांकि पूर्व डीजीपी के खिलाफ पोस्ट किए जाने के बाद उत्तरप्रदेश पुलिस ने फेसबुक अकाउंट का आईपी एड्रेस पता लगाने की भी कोशिश की लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं आई। हालांकि उत्तरप्रदेश पुलिस अभी भी फेसबुक अकाउंट के बारे में पता लगाने की कोशिश कर रही है। यूपी पुलिस की साइबर टीम इसका पता लगाने में जुटी हुई है। पुलिस फेसबुक अकाउंट के सहारे बदन सिंह बद्दो तक पहुंचने में जुटी हुई है।

साल 2019 में 28 मार्च को बदन सिंह बद्दो को गाजियाबाद कचहरी में पेशी के लिए लाया गया था। पेशी के बाद बदन सिंह बद्दो ने साथ आए पुलिसकर्मियों को मेरठ के एक होटल में पार्टी दी थी। उस दौरान प्रधानमंत्री मोदी भी लोकसभा चुनाव के प्रचार के लिए मेरठ आए हुए थे। जिसको लेकर पूरे मेरठ में भारी सुरक्षाबल को तैनात किया गया था। लेकिन इसके बावजूद कुख्यात गैंगस्टर बदन सिंह बद्दो पुलिस की कस्टडी से भाग निकला।

पुलिस कस्टडी से भागने के बाद उत्तरप्रदेश पुलिस ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया था। बदन सिंह बद्दो के खिलाफ हत्या, डकैती और लूट के कई मामले दर्ज हैं। बदन सिंह पर मेरठ के वकील, एक केबल नेटवर्क संचालक और मेरठ जिला पंचायत के एक सदस्य के हत्या का मामला दर्ज है। पुलिस ने बदन सिंह बद्दो पर ढाई लाख का इनाम घोषित कर रखा है और पुलिस बद्दो की तलाश में जुटी हुई है।