ड्रग्स पर डिबेट के बीच में परमबीर को याद कर बोले अर्नब- पता नहीं अब वह कहां हैं? पैनलिस्ट पर तंज कस कही ये बात

अर्नब ने बॉलीवुड की एक पार्टी का जिक्र कर परमबीर सिंह का नाम लिया। उनका कहना था कि मुंबई के कमिश्नर रहे अफसर पता नहीं अब कहां हैं। फिर बोले कि शायद पैनल में बैठे लोगों में से कुछ को इस बारे में पता होगा।

Supreme Court, Maharashtra, Parambir Singh मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

रिपब्लिक टीवी के ओनर और मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के बीच की तनातनी जगजाहिर है। अर्नब अपने प्रोग्राम में परमबीर पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं चूकते। यहां तक कि ड्रग्स पर एक डिबेट के दौरान अर्नब ने प्रोग्राम के बीच में ही आईपीएस अफसर की गुमशुदगी का जिक्र कर पैनल में बैठे लोगों पर तीखा तंज कसा।

दरअसल, डिबेट में अर्नब बोल रहे थे कि ड्रग्स मामले में बॉलीवुड दोहरा मापदंड अपनाता है। एनसीबी की कोशिश जहां रैकेट को जड़ से उखाड़ फेंकने की होती हैं वहीं सिने जगत से जुड़ा एक वर्ग ड्रग्स को छोटी मोटी चीज बताता है। ऐसे लोगों को लगता है कि ड्रग्स लेना मामूली बात है। इसी दौरान अर्नब ने बॉलीवुड की एक पार्टी का जिक्र कर परमबीर सिंह का नाम लिया। उनका कहना था कि मुंबई के कमिश्नर रहे अफसर पता नहीं अब कहां हैं। फिर बोले कि शायद पैनल में बैठे लोगों में से कुछ को इस बारे में पता होगा। ध्यान रहे कि एक आपराधिक मामले में परमबीर के इशारे पर मुंबई पुलिस ने अर्नब को घर जाकर गिरफ्तार किया था। उसके बाद से वह परमबीर के साथ मीडिया के एक वर्ग पर हमलावर हैं।

डिबेट में अभिनेता मुकेश खन्ना ने बालीवुड के कुछ लोगों पर नाम लिए बगैर निशाना साधा। उनका कहना था कि सिने जगत में ड्रग्स बुरी तरह से फैला हुआ है। बड़े-बड़े लोग सब कुछ जानकर अनजान बने रहते हैं। जब अपने पर बीतती है तो उन्हें आटे दाल का भाव मालूम पड़ता है। उनका कहना था कि ड्रग्स मामले में एनसबी को कड़ा कदम उठाना ही पड़ेगा। उनका कहना था कि सिने जगत का एक ऐसा चेहरा भी है जो बहुत गंदा है।

गौरतलब है कि परमबीर सिंह ने 7 मई को अपने खराब स्वास्थ्य को कारण बताते हुए छुट्टी मांगी थी और चंडीगढ़ चले गए थे। वहां से उन्होंने अपनी छुट्टियां बढ़वाई लेकिन इसके बाद से वह गायब हैं। परमबीर के खिलाफ पहला लुकआउट सर्कुलर जुलाई मध्य में जारी किया गया है। ऐसे में आशंका है कि उन्होंने इससे पहले ही देश छोड़ दिया था।

परमबीर सिंह के खिलाफ आईपीसी की कई धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज हैं। एंटी-करप्शन ब्यूरो में सिंह के खिलाफ दो इंक्वायरी भी लंबित हैं। सिंह को राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने एंटीलिया बम कांड में समन भी भेजा था। जांच एजेंसियों का मानना है कि मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर ने या तो लुकआउट नोटिस जारी होने से पहले ही देश छोड़ दिया था या फिर वह फर्जी पासपोर्ट के सहारे देश से भागे हैं। फिलहाल उनका कोई सुराग नहीं है।