तस्लीमा नसरीन ने सरोगेसी को बताया था गरीबों का शोषण, विवाद हुआ तो बोलीं, निक-प्रियंका चोपड़ा से इसका कोई लेना देना नहीं

तसलीमा नसरीन ने हाल ही में सफाई पेश की है सरोगेसी को लेकर किया उनके ट्वीट का निक जोनास और प्रियंका चोपड़ा से कुछ लेना देना नही है।

taslima nasreen तसलीमा नसरीन ने कहा है कि उनके ट्वीट का निक जोनास और प्रियंका चोपड़ा से कुछ लेना देना नही है। (फोटो सोर्स- इंस्टाग्राम)

लेखिका तसलीमा नसरीन ने स्पष्ट किया है कि सरोगेसी की आलोचना करने वाले उनके ट्वीट बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा और निक जोनास के लिए नहीं थे। प्रियंका चोपड़ा और निक जोनास हाल ही में सेरोगेसी के जरिए से एक बच्ची के माता-पिता बने हैं। वहीं दूसरी और तसलीमा नसरीन ने सेरोगेसी को ‘महिलाओं और गरीबों का शोषण’ बताया था।

ऐसे में तसलीमा नसरीन ने स्पष्ट किया कि उनके विचारों से निक प्रियंका का कुछ लेना देना नहीं है। तसलीमा ने ट्विटर पर लिखा, “मेरे सरोगेसी ट्वीट सरोगेसी पर मेरी अलग-अलग राय के बारे में हैं। प्रियंका-निक से कोई लेना-देना नहीं है। मैं कपल से प्यार करती हूं। ”

बता दें कि इससे पहले तसलीमा ने ट्वीट किया था, ‘मैं सरोगेसी को तब तक स्वीकार नहीं करूंगी जब तक कि अमीर महिलाएं सरोगेट मां नहीं बन जातीं। मैं बुर्का तब तक स्वीकार नहीं करूंगी जब तक पुरुष इसे प्यार से नहीं पहनते। मैं तब तक वेश्यावृत्ति स्वीकार नहीं करूंगी जब तक कि पुरुष वेश्यावृत्ति नहीं बन जाती और पुरुष महिला ग्राहकों की प्रतीक्षा नहीं करते। नहीं तो सरोगेसी, बुर्का, वेश्यावृत्ति सिर्फ महिलाओं और गरीबों का शोषण है।

उन्होंने आगे लिखा, “सरोगेसी संभव है क्योंकि गरीब महिलाएं हैं। अमीर लोग हमेशा अपने स्वार्थ के लिए समाज में गरीबी का अस्तित्व चाहते हैं। अगर आपको बच्चे को पालने की जरूरत है, तो बेघर को गोद लें। बच्चों को आपके लक्षण विरासत में मिलने चाहिए। यह सिर्फ एक स्वार्थी अहंकारी अहंकार है।”

एक अन्य ट्वीट में तसलीमा ने सवाल किया कि क्या ‘सरोगेसी के जरिए रेडीमेड बच्चे’ पाने वाली माताओं को अपने बच्चों के लिए उतना ही स्नेह महसूस होता है जितना कि जन्म देने वाली माताओं को। इसके साथ ही उन्होंने ट्रोल्स पर भी निशाना साधा, “कई लोग सरोगेसी को ‘व्यक्तिगत पसंद’ के रूप में समर्थन करते हैं, लेकिन किसी भी ‘व्यक्तिगत राय’ का समर्थन नहीं करते हैं यदि वह राय सरोगेसी के लिए महत्वपूर्ण है। कुछ असहिष्णु लोगों ने मेरे ट्विटर हैंडल को बैन कर दिया। वास्तव में, वे किसी भी ‘व्यक्तिगत’ का समर्थन नहीं करते हैं, वे सामूहिक अहंकार का समर्थन करते हैं,”

जानकारी के लिए आपको बता दें कि साल 2018 में शादी करने वाली प्रियंका और निक ने इस महीने की शुरुआत में सरोगेसी के जरिए अपने पहले बच्चे का स्वागत किया। उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर साझा किए गए एक बयान के माध्यम से खबर साझा की। उन्होंने लिखा, “हमें यह पुष्टि करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि हमने सरोगेट के माध्यम से एक बच्चे का स्वागत किया है। हम सम्मानपूर्वक इस विशेष समय के दौरान गोपनीयता की मांग करते हैं क्योंकि हम अपने परिवार पर ध्यान केंद्रित करते हैं। बहुत बहुत धन्यवाद। ”