तालिबान की तरह इनका पहला निशाना महिलाएं होंगी- मथुरा में योगी सरकार ने मांस-शराब को किया बैन तो बोले फिल्ममेकर

योगी आदित्यनाथ सरकार ने मथुरा में मांस और शराब की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध की घोषणा की है। बॉलीवुड फिल्ममेकर विनोद कापड़ी ने यूपी सरकार के इस फैसले पर आपत्ति जताई है।

yogi adityanath, meat ban in mathura, vinod kapri योगी सरकार ने मथुरा में शराब और मांस को प्रतिबंधित कर दिया है (File Photo)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मथुरा में शराब और मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर दी है। सोमवार को मथुरा में कृष्णोत्सव के दौरान बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां कोई मांस मदिरा की बिक्री न हो इसके लिए जिला प्रशासन को कार्य योजना बनाने का निर्देश दे दिया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार के इस फैसले का जहां कुछ लोगों द्वारा स्वागत किया गया है वहीं कुछ लोग इसके विरोध में हैं। बॉलीवुड फिल्ममेकर विनोद कापड़ी ने यूपी सरकार के इस फैसले पर आपत्ति जताई है।

उनका कहना है कि सरकार इस कदम से अपने नागरिकों के जीवनयापन के तरीके में दखल देना चाहती है। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए एक ट्वीट में कहा है कि धीरे धीरे ऐसा पूरे देश में किया जाएगा और तालिबान की तरह महिलाएं इनका पहला निशाना होंगी।

अपने ट्वीट में कापड़ी लिखते हैं, ‘याद रखिएगा ये सब धीरे-धीरे पूरे राज्य में होगा और फिर इनकी कोशिश होगी कि देश में भी बैन हो। ये आपके चलने फिरने, पहनने, पढ़ने, खाने-पीने सब पर नज़र रखना चाहते हैं। और तालिबान की तरह इनका पहला निशाना महिलाएं ही होंगी। याद रखिएगा।’

विनोद कापड़ी के इस ट्वीट पर यूजर्स भी अपनी राय जाहिर कर रहे हैं। सचिन पासवान नाम के एक यूजर लिखते हैं, ‘क्या ये फैसला मूलभूत अधिकारों का हनन नहीं है? आर्टिकल 19- ये फैसला कोर्ट में नहीं टिकेगा।’

जुनैद जूनिया नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘चुनाव आ रहे हैं सर, भोली-भाली जनता को धर्म के नाम पर लुभाना है ओर वोट हासिल करना है। क्योंकि कुछ ऐसा किया ही नहीं है जिसके बुनियाद पर वोट मांग सकें। अब जनता को देखना है कि धर्म के नाम पर वोट देना है या जीने वाली और आगे बढ़ाने वाली चीजों पर वोट देना है।’

अभिनव अनुराग नाम के एक यूजर ने फिल्ममेकर को जवाब दिया, ‘लक्षद्वीप में भी शराब पर बैन था। अलग-अलग सरकारें वोट बैंक के लिए सब कुछ करती आईं हैं।’ वहीं सौरव नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘सही फैसला है।’

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मथुरा के रामलीला मैदान में आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए यह भी बताया है कि मथुरा में शराब और मांस पर बैन के बाद इन कामों में लगे लोगों का अन्य व्यवसायों में पुनर्वास किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘जो लोग इन कार्यों से जुड़े हैं, उन्हें अन्य कार्यों के लिए प्रशिक्षण देकर उनका पुनर्वास किया जाना चाहिए। इन लोगों की व्यवस्थित रूप से काउंसलिंग की जानी चाहिए। अच्छा होगा कि जो इन कामों के लगे हैं, उनके लिए दुग्धपालन के छोटे-छोटे स्टॉल बना दिए जाएं।’