तालिबान-पाकिस्तान, मौसेरे भाइयों से कैसे डील करेगा भारत? अंजना ओम कश्यप ने पूछा सवाल तो BJP नेता ने दिया ये जवाब

अंजना ओम कश्यप ने सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के प्रवक्ता गौरव भाटिया से सवाल पूछा कि भारत पाकिस्तान और तालिबान से कैसे डील करेगा।

imran khan, taliban, anjana om kashyap इमरान खान ने तालिबान की जीत पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी थी (Photos-AP/File)

अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबान के कब्जे को लेकर पाकिस्तान से लगातार सकारात्मक प्रतिक्रिया आई है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के बाद अब क्रिकेटर शाहिद अफरीदी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है जिसमें वो तालिबान का भरपूर समर्थन कर रहे हैं। वो कह रहे हैं कि तालिबानी इस बार अलग माइंड सेट के साथ आए हैं। शाहिद अफरीदी के इस वीडियो पर उनकी खूब आलोचना हो रही है। अफ़ग़ान तालिबान और पाकिस्तान के मुद्दे पर ही आज तक के डिबेट शो में शो की एंकर अंजना ओम कश्यप ने सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के प्रवक्ता गौरव भाटिया से सवाल पूछा कि भारत इससे कैसे डील करेगा।

आज तक के डिबेट शो, ‘हल्ला बोल’ में अंजना ओम कश्यप ने गौरव भाटिया से पूछा, ‘ये जो मौसेरे भाई हैं पाकिस्तान और तालिबान, उससे इंडिया कैसे डील करेगा? पाकिस्तान के प्रधानमंत्री, शाहिद अफरीदी..इनकी पूरी फौज खुलकर उनकी बड़ाई कर रहे हैं।’

जवाब में गौरव भाटिया ने कहा, ‘आज यूनाइटेड नेशंस सिक्योरिटी काउंसिल की बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता भारत ने की, उसमें एक रेजोल्यूशन आया है। भारत समेत सभी देशों ने ये संदेश दिया है कि अगर अफगानिस्तान की धरती को कोई और देश आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए या वहां पर हमारे नागरिकों को परेशान करने के लिए करेगा तो हम लोग अपनी ताकत के अनुसार सबक सिखाना जानते हैं।’

उन्होंने पाकिस्तान की पीटीआई पार्टी के प्रवक्ता अब्दुल समद याकूब पर निशाना साधते हुए आगे कहा, ‘आपने कहा कि अमेरिका की सेना ने वहां निर्दोष लोगों को मारा। तो आपसे मैं ये कहना चाहता हूं कि आप जो भीख लेते हैं न अमेरिका से, अगर आपमें अस्मिता बची है तो भीख लेना बंद कर दें।’

वो आगे बोले, ‘ये कुछ ऐसा ही है जैसे आप कटोरा घूमाते हैं चीन की तरफ। इस्लामिक मुल्क कहते हैं खुद को लेकिन उइगर मुसलमानों को प्रताड़ित किया जाता है वहां। आपको चिंता है कि भीख आती रहे चाहे मानवाधिकारों का हनन हो।’

गौरव भाटिया ने कहा कि भारत आज देशों को नेतृत्व प्रदान करता है। उन्होंने डिबेट में मौजूद पाकिस्तानी पैनलिस्टों पर निशाना साधते हुए कहा कि पाकिस्तान और तालिबान में समानता है इसलिए ये तालिबान के साथ खड़े होते हैं।