तालिबान संकट के बीच बोले पीएम मोदी, कुछ दिन असर दिखा सकते हैं आतंकी, नहीं हारेगी मानवता

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की आतंक के दम पर बनाए गए साम्राज्य स्थायी नहीं रहते। उन्होंने कहा कि आतंक से मानवता को नहीं कुचला जा सकता।

सोमनाथ मंदिर से जुड़ी परियोजनाओं के उद्घाटने के समय पीएम मोदी। फोटो- भाजपा ट्विटर हैंडल

सोमनाथ मंदिर से जुड़े कई प्रोजेक्ट्स का उद्घाटन करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आतंक स्थायी नहीं हो सकता और यह आस्था को नहीं कुचल सकता। इसका एक उदाहरण सोमनाथ मंदिर है जिसे बार-बार तोड़ो गया। मूर्तियों को खंडित किया गया लेकिन यह मंदिर जितनी बार गिराया गया, उतनी बार खड़ा हुआ। मोदी के इस बयान को तालिबान के वर्तमान घटनाक्रम से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ विध्वंसक शक्तियां हैं जो कि आतंक के रास्ते पर चलकर साम्राज्य खड़ा करना चाहती हैं। लेकिन यह सब स्थायी नहीं है और मानवता को कुचला नहीं जा सकता।

बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद विरोधी मोदी सरकार से इस मुद्दे पर स्टैंड जानना चाहते हैं। हालांकि अब तक सरकार की तरफ से इसपर कोई सीधा जवाब नहीं दिया गया है। विदेश मंत्री जयशंकर ने इतना जरूर कहा था कि अफगानिस्तान में फंसे हर भारतीय को भारत वापस लाया जाएगा। अभी तो हाल यह है कि अफगानिस्तान के दूतावास में काम करने वाले सारे कर्मचारियों को स्वदेश बुला लिया गया है।

मोदी ने किया पटेल का जिक्र
प्रधानमंत्री मोदी ने सोमनाथ मंदिर के बारे में कहा कि इसे फिर से बनाने का फैसला सरदार पटेल ने किया था। पर्यटना का विकास कैसे किया जाता है यह गुजरात ने देखा है। उन्होंने कहा कि लोकल स्तर पर भी पर्यटन को विकसित करना है जिससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था और सुदृढ़ हो।

प्रधानमंत्री मोदी ने जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया है उनमें सोमनाथ सैरगाह, सोमनाथ प्रदर्शनी केंद्र और पुराने सोमनाथ का दोबारा बनाया गया परिसर शामिल है। बता दें कि पुराने (जूना) सोमनाथ के नए परिसर को श्री सोमनाथ ट्रस्ट ने 3.5 करोड़ रुपये की लागत से बनाया है। इसे एक बार इंदौर की रानी अहिल्याबाई ने भी बनवाया था।