तू हीरो बनेगा? रात के ढाई बजे जब सलमान के कमरे में पहुंचे पिता सलीम खान, पूछने लगे थे ऐसे सवाल

इधर, सलमान की फिल्म मैंने प्यार किया रिलीज के लिए तैयार थी। उधर, सलमान के पिता सलीम खान ने उनकी फिल्म के कुछ रशेज देखे।

सलमान खान, Salman Khan, Salman Khan father Salim सुपरस्टार सलमान खान(फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस आरकाइव)

सुपरस्टार सलमान खान ने अपने करियर की शुरुआत फिल्म ‘बीवी हो तो ऐसी’ से की थी। इस फिल्म में सलमान खान रेखा के देवर बने नजर आए थे। सलमान ने खुद बताया था कि वह शुरुआती दौर में एक्टर नहीं बल्कि डायरेक्टर बनना चाहते थे, फिल्में डायरेक्ट करना चाहते थे। स्क्रिप्ट्स ले कर वह जगह-जगह जाया करते थे पर कोई उन्हें काम नहीं देता था। लेकिन जब उन्हें फिल्म ‘बीवी होते ऐसी’ का ऑफर आया तो सलमान फिल्म करने के लिए मान गए।

लेकिन जब फिल्म के कुछ रशेज सलमान ने देखे तो उन्हें वह स्क्रीन पर बिलकुल अच्छे नहीं लगे और दुवाएं मांगने लगे कि काश ये फिल्म रिलीज न हो, अगर हो तो कोई देखे ही नहीं। सलमान ने इसके बाद खुद पर काम किया और फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ की। इस फिल्म में काम करने के बाद सलमान खान ने काम करना बंद कर दिया। सलमान खान ने प्रभु चावला को दिए इंटरवयू में खुद बताया था कि ‘एक दौर ऐसा आया था बीच में कि जब मैंने काम वाम छोड़ दिया था।’

इधर, सलमान की फिल्म मैंने प्यार किया रिलीज के लिए तैयार थी। उधर, सलमान के पिता सलीम खान ने उनकी फिल्म के कुछ रशेज देखे। सलमान को इस बारे में पता था तो सलमान अपने पिता के घर आने का ही इंतजार कर रहे थे। सलमान अपने कमरे में थे। तभी सलमान की मां उनके कमरे में आईं और बताया कि डैडी आ गए।

सलमान ने बताया था- ‘उनका रिएक्शन मेरे लिए जानना बहुत जरूरी था। तो करीबन ढाई तीन बजे रात मेरी मां मेरे कमरे में आईं, उन्होंने बताया डैडी आ गए। तभी डैडी भी आ गए और बोले- तुझे क्या लगता है, तू स्टार बनेगा?’

सलमान ने बताया- ‘तो मैंने कहा-आई डोंट नो! (पता नहीं मुझे) आप मुझे बताइए। तो मेरे पिता ने मेरी पीठ थपथपाई और कहा ये हिट है, कल्ट फिल्म है। उन्होंने उस दिन मुझे कहा था-कोई भी अगर इस दुनिया में है जो तुम्हारे लिए कुछ कर सकता है तो वो सिर्फ तुम हो।’

सलमान ने आगे कहा था- ‘यही बात उन्होंने एक बार फिर कही थी। उन्होंने कहा- याद है बेटा मैंने एक बार क्या कहा था। मेरे पिता मेरे नेचर के बारे में जानते हैं। उस वक्त इस स्टेटमेंट ने मेरी जिंदगी बदल दी। उसके बाद मैंने सोचा और तय किया कि अब मुझे काम करना है।’