तेजप्रताप की तारीफ करने लगे सुशील मोदी, बोले- लोगों के बीच ज्यादा पसंद किए जा रहे, लालू प्रसाद पर उठाए सवाल

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने अपने एक अन्य ट्वीट में, लालू प्रसाद पर हमला करते हुए लिखा कि पहले पार्टी के सीनियर नेताओं के रहते राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बना कर और अब बड़े बेटे को महत्व न देकर क्या लालू प्रसाद ने किसी स्थापित मर्यादा का पालन किया?

Sushil Modi, RJD, Tej Pratap Yadav, BJP, Lalu Prasad सुशील मोदी और राजद नेता तेजप्रताप यादव (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

राजद और लालू परिवार में जारी विवाद के बीच अब लालू प्रसाद के कट्टर राजनीतिक विरोधी सुशील मोदी की भी एंट्री हो गयी है। सुशील मोदी ने कहा है कि तेजप्रताप भी अपने लोगों के बीच ज्यादा पसंद किये जा रहे हैं। इससे जिनको तकलीफ हुई होगी, वे उन्हें किनारे करने की जोड़-तोड़ कर रहे हैं।

सुशील मोदी ने शनिवार को एक के बाद एक कई ट्वीट कर लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव पर निशाना साधा। सुशील मोदी ने लिखा कि राजद के राजकुमारों में सत्ता संघर्ष तेज, जगदानंद तो बहाना हैं। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा कि तेजप्रताप यादव ने बोलने और लोगों से संवाद करने की वही शैली अपनाई, जिससे उनके पिता लोकप्रिय हुए। तेजप्रताप भी अपने लोगों के बीच ज्यादा पसंद किये जा रहे हैं। इससे जिनको तकलीफ हुई होगी, वे उन्हें किनारे करने की जोड़-तोड़ कर रहे हैं।

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने अपने एक अन्य ट्वीट में लालू प्रसाद पर हमला करते हुए लिखा कि पहले पार्टी के सीनियर नेताओं के रहते राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बना कर और अब बड़े बेटे को महत्व न देकर क्या लालू प्रसाद ने किसी स्थापित मर्यादा का पालन किया? लालू प्रसाद ने सार्वजनिक जीवन में कभी मर्यादा-अनुशासन का पालन नहीं किया, इसलिए आज उनकी पार्टी और परिवार में मर्यादाएं टूट रही हैं। बेटे उन्हीं की राह पर हैं।

गौरतलब है कि लालू परिवार में विवाद जारी है। तेजप्रताप यादव के करीबी आकाश यादव को छात्र राजद के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद ही लालू परिवार में घमासान मचा हुआ है। लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव का गुस्सा तेजस्वी यादव के सलाहकार संजय यादव पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह और बहुत हद तक अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव पर भी बाहर आ रहा है। जारी विवाद के बीच तेजस्वी यादव दिल्ली आ गए हैं।बताते चलें कि तेजस्वी यादव को लालू प्रसाद का उत्तराधिकारी माना जाता रहा है। हालांकि तेजप्रताप यादव भी लगातार राजनीति में सक्रिय रहे हैं।