तेल के दाम नहीं लेने दे रहे चैन की नींद! पेट्रोलियम मंत्रालय के बाहर यूथ कांग्रेस का प्रदर्शन, कई हिरासत में

कांग्रेस नेताओं का कहना था कि कोरोना संकट के कारण लोग पहले से ही परेशान हैं ऐसें में डीजल-पेट्रोल के साथ रसोई गैसे के लगातार बढ़ते दाम ने लोगों को और अधिक परेशान कर दिया है।

Youth Congress, Ministry of Petroleum, Congress

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को प्रदर्शन किया। दिल्ली में पेट्रोलियम मंत्रालय के बाहर विरोध-प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प भी हुई। प्रदर्शनकारियों के साथ कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत भी मौजूद थी।

युवा कांग्रेस की तरफ से ये प्रदर्शन राजधानी दिल्ली सहित देश के कई अन्य राज्यों में भी आयोजित की गयी थी। कार्यकर्ताओं की मांग थी कि सरकार तात्काल प्रभाव से पेट्रोल-डीजल की दाम को कम करें। कांग्रेस नेताओं का कहना था कि कोरोना संकट के कारण लोग पहले से ही परेशान हैं ऐसें में डीजल-पेट्रोल के साथ रसोई गैसे के लगातार बढ़ते दाम ने लोगों को और अधिक परेशान कर दिया है।

इससे पहले शनिवार को कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि सरकार आम लोगों की समस्याओं की अनदेखी कर रही है। साथ ही कहा था कि सरकार को अहंकार छोड़कर पेट्रोल,डीजल और रसोई गैस पर लगाए गए कर को कम करना चाहिए।कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के घर के बाहर भी प्रदर्शन किया था।

कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि मोदी सरकार लोगों के लिए सबसे महंगी सरकार रही है। जिसने लोगों पर भारी कर लगाया है। यह अभिमानी सरकार लोगों की समस्याओं को स्वीकार करने या उन्हें कुछ भी राहत देने के लिए तैयार नही है।

बताते चलें कि 1 मई 2019 के बाद से अबतक पेट्रोल की कीमतों में 15.21 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत में 15.33 रुपये का इजाफा हुआ है। देश के कई हिस्सों में पेट्रल की कीमत 100 रुपये के पार पहुंच गया है।