त्योहारों की तैयारी कर रहे लोगों से स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, अभी मास्क हटाने और उत्सव मनाने का समय नहीं आया

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने गुरुवार को मीडिया को बताया कि एक्टिव केस घटे जरूर हैं, लेकिन खत्म नहीं हुए हैं। कोरोना की दूसरी लहर अभी भी जारी है और तीसरी लहर की आशंका बनी हुई है।

Covid-19, Vaccination, ICMR नोएडा के जिला अस्पताल में कोविड से बचने के लिए टीका लगवाती युवती। (फोटो- पीटीआई)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने त्योहारों की तैयारी कर रहे लोगों से कहा है कि अभी मास्क हटाने और सार्वजनिक रूप से खुलकर उत्सव मनाने का समय नहीं आया है। हमें सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए घर में ही परिवार के साथ त्योहारों को मनाना होगा। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने गुरुवार को मीडिया को बताया कि एक्टिव केस घटे जरूर हैं, लेकिन खत्म नहीं हुए हैं। कोरोना की दूसरी लहर अभी भी जारी है और तीसरी लहर की आशंका बनी हुई है।

इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 47000 नए केस सामने आए हैं। कहा कि कुल केसों में से 69 फीसदी केस केवल केरल से रिपोर्ट हुए हैं। कहा कि केसों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। 7 मई को 4 लाख से ऊपर केस पहुंच गए थे। इसके बाद पहली जून को समाप्त हुए सप्ताह में देश भर में 279 जिले ऐसे थे, जहां प्रतिदिन 100 से अधिक केस आते थे। पहली जुलाई को यह संख्या घटकर 107 जिले तक रह गई थी। 30 अगस्त के सप्ताह में यह और घटकर 42 जिले ही रह गई।

कहा कि अभी भी केरल में एक लाख से अधिक केस हैं। तमिलनाडु, महाराष्ट्र, कर्नाटक और आंध्रप्रदेश ऐसे राज्य हैं, जहां अब भी 10 हजार से एक लाख तक केस हैं। ऐसे में हमें यह नहीं मानना चाहिए कि कोरोना बिहैवियर प्रोटोकाल का पालन नहीं करें। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पाल ने कहा कि हमें मास्क लगाना ही है। जब तक पूरी तरह से सबको टीके न लग जाएं तब तक सामाजिक दूरी का पालन करना ही होगा और एक जगह जुटने से बचना होगा। कोविड प्रोटोकाल को किसी भी हालत में बंद नहीं करना है।

देश में गुरुवार को 47,092 नए मामलों के सामने आने के साथ पिछले दो महीने में कोविड-19 के सबसे अधिक दैनिक मामले सामने आए। पिछले 24 घंटे के दौरान 47,092 नए मामलों के सामने आने के साथ संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,28,57,937 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर अब 3,89,583 हो गई है जो कुल मामलों का 1.19 प्रतिशत है। वहीं, संक्रमण से 509 और लोगों की मौत हुई है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.48 प्रतिशत है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार साप्ताहिक संक्रमण दर 2.62 प्रतिशत है। पिछले 69 दिनों से संक्रमण दर तीन प्रतिशत से कम दर्ज की जा रही है। देश में अब तक कुल 3,20,28,825 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और कोविड-19 से मृत्यु दर 1.34 प्रतिशत है।
मंत्रालय के अनुसार, बुधवार को एक दिन में कोविड-19 रोधी टीकों की 81.09 लाख खुराक दी गई। देश में अब तक टीकों की कुल 66.30 करोड़ खुराक दी जा चुकी हैं।

देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए। देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे।

संक्रमण से मौत के नए मामलों में केरल में 173 लोगों की और महाराष्ट्र में 183 लोगों की मौत हो गई। कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक कुल 4,39,529 लोगों की मौत हुई है। इनमें से महाराष्ट्र में 1,37,496 लोग, कर्नाटक में 37,339 लोग, तमिलनाडु में 34,941 लोग, दिल्ली में 25,082 लोग, उत्तर प्रदेश में 22,825 लोग, केरल में 20,961 लोग और पश्चिम बंगाल में 18,459 लोगों की मौत हो गई।