दिल्लीः बीजेपी ने तीन पार्षदों को किया 6 साल के लिए निष्कासित, एक का दावा- आप ज्वाइन करने की घोषणा से बिफरी पार्टी

एक पार्षद का दावा है कि वह आम आदमी पार्टी की सदस्यता लेने का मन बना चुके हैं। पार्टी को भनक लग गई और उनके खिलाफ एक्शन हो गया।

Delhi BJP, Adesh Gupta, BJP Chief, Expels three councilors, AAP दिल्ली बीजेपी ने अपने 3 पार्षदों को छह साल के लिए निष्कासित किया। (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले बीजेपी ने अपनी छवि सुधारने के लिए भ्रष्टाचार के आरोप में घिरे अपने तीन निगम पार्षदों तीन निगम पार्षदों संजय ठाकुर, रजनी पांडेय और पूजा मदान को 6 साल के लिए पार्टी की सदस्यता से निष्कासित कर दिया है। हालांकि, इनमें से एक पार्षद का दावा है कि वह आम आदमी पार्टी की सदस्यता लेने का मन बना चुके हैं। पार्टी को भनक लग गई और उनके खिलाफ एक्शन हो गया।

दिल्ली बीजेपी से निष्काषित किए गए संजय ठाकुर दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के तहत आने वाले सहदुलजाब वार्ड से पार्षद हैं। रजनी बब्लू पांडेय न्यू अशोक नगर वार्ड से पार्षद हैं। यह पूर्वी दिल्ली नगर निगम के तहत आता है। पूजा मदान उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मुखर्जी नगर वार्ड से पार्षद है। भाजपा के इस कदम को अगले साल होने वाले दिल्ली नगर निगम चुनावों से पहले पार्टी में सफाई अभियान के रूप में देखा जा रहा है।

उधर, पूजा मदान का कहना है कि उन्हें पार्टी की तरफ से सहयोग नहीं मिल रहा था। फंड की कमी की वजह से वह अपने वार्ड में काम नहीं करवा पा रही थीं। उन्होंने दो दिन पहले ही पार्टी को बता दिया था कि रविवार को वह आप की सदस्यता लेने जा रही हैं। उनका दावा है कि पार्टी ने उन्हें रुकने के लिए कहा था। पूजा का सवाल है कि अगर वह करप्ट हैं तो पार्टी उन्हें क्यों रोक रही थी। अब तक उन्हें सस्पेंड नहीं किया गया। जब पार्टी को पता चला कि वह आप ज्वाइन कर रही हैं तो आनन-फानन में एक्शन से लिया गया। उनका दावा है कि दूसरे पार्षद संजय ठाकुर भी आप ज्वाइन कर रहे हैं।

निष्कासित की गईं पार्षद रजनी बब्लू पांडेय रविवार को बीजेपी दफ्तर पर दिखीं। उनके पति बब्लू पांडेय का कहना है कि रजनी को पार्टी की तरफ से निष्कासन की चिट्ठी मिली है, लेकिन उन्हें लगता है कि यह गलती में जारी की गई है। बाकी दोनों पार्षद आप ज्वाइन करने जा रहे थे। दोनों ने इसके बारे में पार्टी को बताया भी था, लेकिन वह बीजेपी के साथ थे और हमेशा रहेंगे।

सूत्रों का कहना है कि करप्शन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर बीजेपी अपने सभी पार्षदों को कड़ा संदेश देना चाहती है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम में 104-104 सीटें आती हैं। जबकि पूर्वी दिल्ली नगर निगम के तहत 64 सीटें हैं। कुछ महीनों बाद ही 272 वार्ड वाले नगर निगम का चुनाव होना है। बीजेपी नहीं चाहती कि पार्षदों की कारगुजारियों का ठीकरा उसके सिर फोड़ा जाए। असेंबली चुनाव में मुंह की खाने के बाद पार्टी फूंक-फूंक कर कदम रख रही है।

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष आदेश गुप्ता की ओर से तीनों निगम पार्षदों को भेजे गए पत्र में कहा कि भ्रष्टाचार की शिकायतों के कारण आपको 6 साल के लिए बीजेपी की साधारण सदस्यता से निलंबित किया जाता है। आपसे पहले भी कई बार बर्ताव ठीक करने को कहा गया था, लेकिन आपके व्यवहार में कोई सुधार नहीं आया। आपको तुरंत प्रभाव से 6 साल के लिए बीजेपी की सदस्यता से निष्कासित किया जाता है।