दिल्ली में आफत की बारिश! पुल से झरने की तरह नीचे गाड़ियों पर गिरने लगा पानी, लोगों का तंज- केजरीवाल ने दिल्ली में बना दिया नायग्रा फॉल

आज अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का अनुमान है और शाम तक दक्षिणी हवाएं चल सकती हैं।

delhi, rain दिल्ली: फ्लाईओवर से गाड़ियों पर गिरता पानी। (फोटो-ट्विटर)।

दिल्ली में मंगलवार को हुई बारिश ऑफिस जाने वालों के लिए आफत बन गई। दरअसल, कई रास्तों पर जलभराव हो गया, यहां तक कि कई फ्लाईओवर से झरने की तरह पानी गिरता नजर आया। सोशल मीडिया यूजर्स ने मंगलवार को हुई बारिश की कई तस्वीरें और वीडियो शेयर कीं। ऐसी ही एक वीडियो शेयर करते हुए एक ट्विटर यूजर ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा। एक फ्लाईओवर से गिरते पानी की वीडियो शेयर करते हुए ट्विटर यूजर (@rose_k01) ने लिखा, ‘हमें दिल्ली में एक झरना मिला है।अरविंद केजरीवाल का शुक्रिया जिन्होंने दिल्ली में नायग्रा फॉल बनाया !’

मालूम हो कि दिल्ली में मंगलवार को कुछ इलाकों में बारिश हुई और न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, सुबह साढ़े आठ बजे हवा में नमी का स्तर 84 फीसदी दर्ज किया गया। सोमवार को न्यूनतम तापमान 25.2 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 34.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

मौसम विभाग ने सोमवार को अनुमान जताया था कि मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में हल्की बारिश हो सकती है और आसमान में बादल छाये रह सकते हैं। विभाग ने कहा कि आज अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का अनुमान है और शाम तक दक्षिणी हवाएं चल सकती हैं।

बारिश के कारण दिल्ली में कई जगहों पर जलजमाव भी देखा गया। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, रिंग रोड हयात होटल, सावित्री फ्लाईओवर के दोनों ओर, महारानी बाग निजामुद्दीन खट्टा, कैरिजवे धौला कुआं से 11 मूर्ति, आनंद पर्वत गली नंबर 10, एसपी मार्ग से आरएमएल मार्ग, पुल प्रह्लादपुर अंडरपास, छत्ता रेल, विज्ञान भवन के पास मोती लाल नेहरू मार्ग, मौलाना आजाद रोड पर जलभराव हुआ।

बता दें कि भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने दिन में पहले दिल्ली-एनसीआर के कुछ हिस्सों में गरज और हल्की से मध्यम बारिश की भविष्यवाणी की थी। आईएमडी के एक ट्वीट के अनुसार, उत्तरी दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, दादरी, मेरठ और मोदीनगर में बारिश होगी।

मौसम विभाग ने कहा, “सोहाना, नूंह, औरंगाबाद, होडल, मानेसर (हरियाणा) मेरठ, मोदीनगर, गढ़मुक्तेश्वर, पिलखुआ, हापुड़, गुलाओटी, सियाना, संभल, सिकंदराबाद, बुलंदशहर, (यूपी) के आसपास और आसपास के क्षेत्रों में मध्यम से भारी बारिश होगी।”

वहीं, मुंबई में लंबे समय के बाद दक्षिण-पश्चिम मानसून एक बार फिर सक्रिय होने के साथ ही शहर में भारी बारिश हुई, जिससे एक जगह भूस्खलन होने से कुछ लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि रात भर भारी बारिश होने के कारण कुछ निचले इलाकों में पानी भर गया।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की एक रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार रात से, महानगर, पड़ोसी नवी मुंबई, ठाणे और आसपास के अन्य क्षेत्रों में 20 मिमी से 70 मिमी तक बारिश हुई। मंगलवार को सुबह साढ़े आठ बजे तक पिछले 24 घंटे में आईएमडी की सांताक्रूज वेधशाला में 49 मिमी, जबकि कोलाबा वेधशाला में 29.8 मिमी बारिश दर्ज की गई।

अधिकारियों ने बताया कि मूसलाधार बारिश के कारण मुंबई के असल्फा इलाके में भूस्खलन हुआ, जिससे कुछ लोग घायल हो गए। बारिश के कारण अंधेरी, परेल, भांडुप और कुछ अन्य इलाकों में जलजमाव के कारण यातायात प्रभावित हुआ।