दीपक कुमार ने वर्ल्ड और ओलंपिक चैंपियन को हरा किया उलटफेटर, विश्व मुक्केबाजी में भारत के 2 पदक पक्के

Strandja Memorial Tournament: नवीन बूरा (69 किलो) क्वार्टर फाइनल में ब्राजील के इरावियो एडसन को हराकर सेमीफाइनल में पहुंच गए। अब सेमीफाइनल में उनका सामना एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता बोबो-उस्मोन बातुरोव से होगा।

Indian boxer Deepak Kumar

Strandja Memorial Tournament in Sofia: एशियाई खेलों के रजत पदक विजेता मुक्केबाज दीपक कुमार (52 किग्रा) ने शुक्रवार को 72वें स्ट्रांजा मेमोरियल मुक्केबाजी टूर्नामेंट में उलटफेर किया। उन्होंने ओलंपिक और विश्व चैम्पियन उज्बेकिस्तान के शखोबिदिन जोइरोव को हराकर सोफिया में चल रहे इस टूर्नामेंट के फाइनल्स में प्रवेश किया। दीपक ने अपने करियर की सबसे यादगार जीत दर्ज की।

दीपक के फाइनल में पहुंचने के साथ ही प्रतियोगिता में भारत का दूसरा पदक पक्का हो गया। दीपक से पहले एक अन्य मुक्केबाज नवीन बूरा (69 किग्रा) ने सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत का पहला पदक पक्का किया था। दीपक ने अपने से कहीं मजबूत जोइरोव को 4-1 से शिकस्त दी। दीपक ने भारत के अमित पंघाल को हराकर 2019 विश्व चैम्पियनशिप खिताब अपने नाम किया था। जोइरोव एशियाई खेलों और एशियाई चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता भी हैं।

दीपक ने गुरुवार को बुल्गारिया के दारिस्लाव वासिलेव को 5-0 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई थी। हालांकि, टूर्नामेंट में महिला वर्ग में भारत को निराशा हाथ लगी। पूर्व युवा विश्व चैम्पियन ज्योति गूलिया (51 किलो) और भाग्यवती कचारी (75 किलो) महिला वर्ग में हारकर बाहर हो गईं। इसके साथ ही महिला वर्ग में भारत की चुनौती बिना किसी पदक के खत्म हो गई।

पुरुष वर्ग में मनजीत सिंह (प्लस 91 किलो) भी हारकर बाहर हो गए। दो बार की विश्व चैम्पियन नाजिम काइजेबे को क्वार्टर फाइनल में हराने वाली गूलिया को रोमानिया की लाकरामियाआरा पेरिजोच ने 5-0 से हराया। कचारी भी इसी अंतर से अमेरिका की नाओमी ग्राहम से हार गई। मनजीत को आर्मेनिया के गुरजेन होवहानिस्यान ने मात दी।

इससे पहले नवीन बूरा (69 किलो) क्वार्टर फाइनल में ब्राजील के इरावियो एडसन को हराकर सेमीफाइनल में पहुंच गए। अब सेमीफाइनल में उनका सामना एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता बोबो-उस्मोन बातुरोव से होगा। भारत ने इस टूर्नामेंट के पिछले चरण में तीन पदक (एक रजत और दो कांस्य पदक) जीते थे।