दीपेंद्र हुड्डा के साथ हुई धक्का मुक्की पर बिफरीं प्रियंका गांधी, पुलिसकर्मियों से कहा- जाकर अपने मंत्रियों और अफसरों से कह दो, तुम्हारे प्रदेश में नहीं होगा, इस देश में है कानून

प्रशासन ने जब प्रियंका गांधी को रोकने की कोशिश की तो उन्होंने कहा कि, मुझे वारंट दिखाओ, अगर आपके पास नहीं है तो कोई हक नहीं है हमें रोकने का आपको।

priyanka Gandhi, Congress, Lakhimpur Kheri प्रियंका गांधी को लखीमपुर खीरी जाते हुए पुलिस ने हिरासत में लिया(फोटो सोर्स: ट्विटर/वीडियो ग्रैब)

रविवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुए हिंसक बवाल के बाद सियासी माहौल गरम हो गया है। इस बीच कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी जाने के लिए रविवार देर रात लखनऊ पहुंची थीं। जहां से वो लखीमपुर जाने वाले थीं। लेकिन उन्हें सीतापुर के हरगांव में पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इस दौरान प्रियंका गांधी पुलिस पर बरसती नजर आईं। इसका एक वीडियो भी सामने आया है।

दरअसल प्रियंका गांधी कांग्रेसी नेता और राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा के साथ लखीमपुर जाना चाह रही थीं। लेकिन प्रशासन ने उन्हें जाने नहीं दिया। आरोप है कि पुलिसवालों ने उन्हें रोकने के दौरान उनके साथ धक्का-मुक्की भी की। इसी को लेकर प्रियंका गांधी ने पुलिसकर्मियों पर अपना गुस्सा निकाला।

प्रियंका गांधी वायरल हो रहे वीडियो में कह रही हैं कि, “छूकर देखो मुझे, तुम्हारे प्रदेश में नहीं होगा, लेकिन कानून है इस देश में। हमें हिरासत में लेना है तो लो, लेकिन इस तरह जबरदस्ती के साथ नहीं। जाकर अपने अफसरों और मंत्रियों कह दो।”

एक और वीडियो में प्रियंका गांधी कहती दिख रही है कि, “मुझे वारंट दिखाओ, अगर आपके पास नहीं है तो कोई हक नहीं है हमें रोकने का। क्या समझ रखा है, लोगों को मार सकते हो, किसानों को कुचल सकते हो, तो समझ रखा है कि हमें भी रोक लोगे। बता दें कि इस नोकझोंक के बाद प्रियंका गांधी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और लखीमपुर नहीं जाने दिया।

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी में किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान रविवार को यहां भड़की हिंसा में कुल आठ लोगों की मौत हो गई है। जिसमें चार किसानों और 4 भाजपा कार्यकर्ता हैं। यह घटना तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर हुई। आरोप है कि चार प्रदर्शनकारियों को टक्कर मारे जाने के बाद नाराज किसानों ने दो वाहनों में आग लगा दी। इसमें चार लोग मारे गए।

दरअसल किसान उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के बनबीरपुर दौरे का विरोध कर रहे थे। यह केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और खीरी से सांसद अजय कुमार मिश्रा का पैतृक गांव है। आरोप के मुताबिक एक वाहन में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री मिश्रा का बेटा सवार था। उसने चार किसानों को वाहन से कुचल दिया। हालांकि मिश्रा का कहना है कि उस वाहन में उनका बेटा नहीं था।