दीवाली की शॉपिंग होगी महंगी, फिर बढ़ने वाले हैं कार-बाइक से लेकर मोबाइल-टीवी-एसी तक के दाम

विनिर्माण में इस्तेमाल होने वाले चिप से लेकर सारे जरूरी कच्चे सामान महंगे हो चुके हैं। इसके चलते कंपनियां दीवाली से पहले Car, Bike, AC,TV, Mobile आदि के दाम बढ़ाने की तैयारी में हैं।

Diwali Shopping Costlier मोबाइल से लेकर कार तक दीवाली से पहले महंगे होने वाले हैं। (Source: AP)

एक आम भारतीय परिवार त्योहारी सीजन में ज्यादा शॉपिंग करता है। इसका कारण है कि ऑनलाइन मार्केट प्लेस से लेकर रिटेल स्टोर तक इस दौरान विशेष छूट देते हैं। इस बार परिस्थितियां अनुकूल नहीं दिख रही हैं। त्योहारी सीजन से ठीक पहले कार (Car), बाइक (Bike), मोबाइल (Mobile), टीवी (TV), एसी (AC) आदि के दाम बढ़ने वाले हैं। यह निश्चित तौर पर लोगों का बजट बिगाड़ेगा और दीवाली शॉपिंग महंगी हो जाएगी।

दरअसल पिछले कुछ समय में इन सामानों के विनिर्माण की लागत तेजी से बढ़ी है। यही कारण है कि कंपनियां पहले ही इस साल में तीन-चार बार अपने उत्पादों के दाम बढ़ा चुकी हैं।

दीवाली पर Smartphone खरीदना भी डालेगा बटुए पर बोझ

कंपनियां आने वाले समय में मोबाइल, टीवी, एसी समेत कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स के दाम आठ प्रतिशत तक बढ़ाने की तैयारी में हैं। इसी तरह कार और बाइक के दो 1-2 प्रतिशत बढ़ाए जा सकते हैं। पिछले एक से डेढ़ साल में कार और बाइक के दाम पहले ही 10-15 प्रतिशत बढ़ाए जा चुके हैं।

मोबाइल, लैपटॉप, टैब आदि से संबंधित शोध सेवा प्रदाता आईडीसी का अनुमान है कि फेस्टिव सीजन से पहले स्मार्टफोन 3-5 प्रतिशत महंगे हो सकते हैं। इसका कारण लागत बढ़ने के साथ ही नए मॉडलों की लांचिंग है।

Fridge, Washing Machine, Microwave भी होंगे महंगे

घरेलू इस्तेमाल के उपकरण बनाने वाली कंपनियां बॉश (Bosch), सीमेंस (Siemens) और हिताची (Hitachi) अपने प्रोडक्ट्स के दाम 3-8 प्रतिशत बढ़ा रही है। अन्य कंपनियां भी अगले महीने से दाम बढ़ाने की तैयारी में हैं। रेफ्रिजरेटर, वॉशिंग मशीन और माइक्रोवेव ओवन जैसे उपकरणों के दाम 3-7 प्रतिशत बढ़ने के अनुमान हैं।

महंगे हो चुका है कच्चा माल

उल्लेखनीय है कि पिछले साल की तुलना में स्टील, कॉपर और रेफ्रिजरेंट के दाम 50-55 प्रतिशत बढ़े हुए हैं। एल्यूमिनीयम और प्लास्टिक भी साल भर पहले से 40-50 प्रतिशत तक महंगा है। कोविड महामारी के चलते चीन, ताईवान और वियतनाम में कारखाने बंद रहने से भी बोझ पड़ा है। इससे चिप के दाम 75 प्रतिशत तक बढ़े हुए हैं। अभी चिप का इस्तेमाल कार समेत लगभग सभी उपकरणों में होता है।

इसे भी पढ़ें: बीच में छोड़ी थी कॉलेज की पढ़ाई, आज फैला है 7000 करोड़ का साम्राज्य

वाहनों के दाम पर गौर करें तो कारें पहले ही 50 हजार से 2.50 लाख रुपये तक महंगी हो चुकी हैं। 10 सबसे अधिक बिकने वाले सभी मॉडल इसी रेंज में महंगे हुए हैं। बाइक और स्कूटर के दाम भी पिछले कुछ समय में पांच से दस हजार रुपये बढ़ चुके हैं।