देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो ने रचा इतिहास, निवेशकों को किया एक साल में मालामाल

अजीम प्रेमजी की विप्रो देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी है, जिसका मार्केट कैप आज कारोबारी सत्र के दौरान 4 लाख करोड़ रुपए के पार चला गया। जिसके बाद विप्रो देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी बन गई है।

7th Edition of EdelGive Hurun India Philanthropy List 2020 विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी। (फोटो- फाइनेंशियल एक्सप्रेस फाइल)

देश की दिग्‍गज आईटी कंपनी विप्रो ने इतिहास रचते हुए मार्केट कैप चार लाख करोड़ पहुंच गया। कारोबारी सत्र के दौरान जैसे कंपनी का शेयर 700 रुपए के पार गया उसके बाद ही कंपनी का मार्केट कैप भी चार लाख करोड़ रुपए हो गया। चार लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप वाली विप्रो देश की तीसरी यानी टीसीएस और इंफोसिस के बाद सबसे बड़ी कंपनी है। आज कंपनी के शेयरों में करीब 6 फीसदी की तेजी देखने को मिली है और 5 फीसदी की तेजी के साथ कारोबार बंद हुबा है। आपको बता दें क‍ि विप्रो ने एक साल में निवेशकों का रुपया डबल से ज्‍यादा कर दिया है।

विप्रो के शेयरों में 6 फीसदी की तेजी
आज विप्रो के शेयरों में 6 फीसदी की तेजी देखने को मिली और कंपनी का शेयर 739.80 रुपए के साथ ऑलटाइम हाई पर पहुंच गए। जबकि कंपनी का शेयर 5.20 फीसदी की तेजी के साथ 707.55 रुपए पर बंद हुआ। आज कंपनी के शेयरों की शुरुआत तेजी के साथ 698 रुपए के साथ हुई थी। जबकि एक दिन पहले कंपनी का शेयर 672.55 रुपए पर बंद हुआ था। बीते तीन दिनों में कंपनी का शेयर 13 फीसदी से ज्‍यादा उछल चुका है।

मार्केट कैप 4 लाख करोड़ रुपए के पार
वहीं दूसरी ओर कंपनी का मार्केट कैप 4 लाख करोड़ रुपए के पार चला गया। जिससे विप्रो कंपनी टीसीएस और इंफोस‍िस के बाद देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी बन गई है। जैसे ही कंपनी का शेयर आज 739.55 रुपए पर पहुंचा तो कंपनी का मार्केट कैप 4,05,471 करोड़ रुपए पर आ गया। जबकि बाजार बंद होने तक कंपनी का मार्केट कैप 3,87,795.36 करोड़ रुपए पर रहा है। बीते तीन दिनों में कंपनी के मार्केट कैप में 48000 करोड़ रुपए की तेजी देखने को मिल चुकी है। सोमवार को जब बाजार बंद हुआ था तो कंपनी का मार्केट 357596.05 करोड़ रुपए पर था।

एक साल में दोगुना से ज्‍यादा कर दिया निवेशकों का पैसा
वहीं दूसरी ओर एक साल में निवेशकों का रुपया विप्रो के शेयरों से दोगुना से ज्‍यादा हो गया है। पिछले साल अक्‍टूबर के आख‍िरी हफ्ते में विप्रो शेयर प्राइस 331.15 रुपए पर था, जो आज 739.80 रुपए हो गया। इसका मतलब यह है कि इस दौरान कंपनी के शेयरों में 123.40 फीसदी तेजी देखने को मिली है। अगर किसी ने एक साल पहले एक लाख रुपए का निवेश किया होगा तो उसकी वैल्‍यू आज 2.23 लाख रुपए हो चुकी होगी। इसका मतलब है कि विप्रो में निवेश आपका एक साल में पैसा दोगुना से ज्‍यादा हो गया।

देश की 13वीं कंपनी बनी
विप्रो देश की 13 वीं ऐसी कंपनी है, जिसका मार्केट कैप 4 लाख करोड़ रुपए के पार गया है। उससे पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, इंफोसिस, एचडीएफसी लिमिटेड, आईसीआईसीआई बैंक, बजाज फाइनेंस, आईटीसी, कोटक महिंद्रा बैंक, भारती एयरटेल लिमिटेड सहित केवल 12 भारतीय लिस्‍टेड कंपन‍ियों का मा‍र्केट 4 लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा है।