देश में कोरोना बहुरूप के मामले हुए 23, महाराष्ट्र में दो और ओमीक्रान से संक्रमित

दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अस्पताल के निदेशक सुरेश कुमार ने कहा कि वर्तमान में केंद्र में कुल 26 लोग हैं, जिनमें से 19 संक्रमित हैं और सात संदिग्ध मामले हैं।

ओमिक्रॉन वायरस का सांकेतिक इलस्ट्रेशन। फोटो- रॉयटर्स

महाराष्ट्र में सोमवार को दो और लोगों को कोरोना के नए बहुरूप ओमीक्रान से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। महाराष्ट्र में ओमीक्रान से संक्रमित लोगों की संख्या दस हो गई है, जबकि देश में यह तादाद 23 हो चुकी है। वहीं दिल्ली स्थित एलएनजेपी अस्पताल के विशेष केंद्र में तीन और अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को भर्ती कराया गया, जिनमें से दो लोग कोरोना विषाणु से संक्रमित हैं और एक संदिग्ध मामला है।

दूसरी ओर, गुजरात में ओमीक्रान से संक्रमित पाए गए एक प्रवासी भारतीय की पत्नी और उसके एक अन्य रिश्तेदार के भी कोरोना विषाणु से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है और उनके नमूनों को जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजा गया है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक दक्षिण अफ्रीका से लौटे 37 वर्षीय एक व्यक्ति और अमेरिका से लौटे 36 वर्षीय उनके मित्र के ओमीक्रान से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इन दोनों के संपर्कों की पहचान करके जांच की जा रही है। दोनों संक्रमितों को इलाज कोरोना नियमों के मुताबिक जारी है।

महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, कर्नाटक और दिल्ली समेत भारत में रविवार तक कोरोना विषाणु के ओमीक्रान बहुरूप से संक्रमण के 21 मामले सामने आए थे।

दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अस्पताल के निदेशक सुरेश कुमार ने कहा कि वर्तमान में केंद्र में कुल 26 लोग हैं, जिनमें से 19 संक्रमित हैं और सात संदिग्ध मामले हैं। सोमवार को पहुंचे तीन अंतरराष्ट्रीय यात्रियों में से दो कोरोना से पीड़ित पाए गए हैं। तीनों भारतीय हैं और वे दुबई, फ्रांस और ब्रिटेन से आए हैं। जामनगर नगर निगम द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया कि दोनों को एकांतवास वार्ड में रखा गया है।

जिम्बाब्वे से यहां पहुंचे 74 वर्षीय प्रवासी भारतीय के जीनोम अनुक्रमण के बाद चार दिसंबर को उसके ओमीक्रान से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। इस व्यक्ति ने जिम्बाब्वे में एक चीनी टीके की दोनों खुराक ली थीं। निगम ने बताया कि प्रवासी भारतीय के साथ जिम्बाब्वे से आई उसकी पत्नी और उसका एक रिश्तेदार भी संक्रमित पाए गए, जबकि परिवार के अन्य सदस्य की रिपोर्ट नकारात्मक आई है।

इन दोनों के नमूनों को जीनोम अनुक्रमण के लिए गांधीनगर भेजा गया है। इनभारतीयों का परिवार जिस सोसाइटी में रहता है, उसे नगर निगम ने एहतियात के तौर पर निरुद्ध क्षेत्र घोषित कर दिया है।