देश में 50 करोड़ मौत मांगने वाली पार्टी से गठबंधन कर रही कांग्रेस, एंकर ने प्रवक्ता से पूछा तो बोले- मौलाना से गठबंधन ना करें, ये क्या मतलब

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि “पीरजादा अब्बास सिद्दीकी से हमारा कोई सीट शेयरिंग नहीं है। उनकी शेयरिंग कम्युनिस्ट से है। कम्युनिस्ट उनको सीट देंगे कि नहीं यह वे जानें। हमारा गठबंधन तो कम्युनिस्ट से है।”

West Bengal Election

बंगाल में चुनाव की तिथि घोषित हो चुकी है। सभी दलों के नेता अपनी तैयारी में जुटे हैं। इस बीच कांग्रेस पार्टी ने पीरजादा अब्बास सिद्दीकी की पार्टी इंडियन सेक्युलर फ्रंट और कम्युनिस्ट पार्टी से गठबंधन की है। इसको लेकर पार्टी के अंदर ही मतभेद उभर रहे हैं। न्यूज-24 चैनल के राष्ट्र की बात टीवी डिबेट में एंकर मानक गुप्ता ने पूछा कि देश में 50 करोड़ मौत मांगने वाली पार्टी से कांग्रेस गठबंधन कर रही है। क्या कांग्रेस की विचारधारा ऐसी रही है?

इस पर कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता अंशुल अभिजीत ने कहा कि “पीरजादा अब्बास सिद्दीकी सूफी परंपरा से आए हैं। उनके सज्जादानसीन हैं। बंगाल में उनकी लंबी-चौड़ी परंपरा रही है, जहां बहुत चिंतक, विचारक हुए हैं। वह समाज सुधारक हैं। समाज सेवा करने वाले हैं। अब मौलाना हैं, मौलाना से गठबंधन ना करें, ये क्या मतलब है।” उन्होंने साफ किया कि पीरजादा अब्बास सिद्दीकी कट्टर नहीं सेक्युलर नेता है।

एंकर ने पीरजादा अब्बास सिद्दीकी के बयान की याद दिलाई और कहा कि हाल ही में उन्होंने यह बयान दिया है। इसी तरह का बयान दिल्ली दंगों के दौरान दिया था। इस पर कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि मौलान ने स्वीकार किया है कि उनके बयान से छेड़छाड़ की गई है। कहा कि कांग्रेस उनके विचारों का समर्थन नहीं करती।

कांग्रेस के प्रवक्ता ने कहा कि “अलग-अलग विचारधारा होने के बावजूद गठबंधन होते हैं। इसमें कुछ विवशताएं हैं।” उन्होंने कहा कि “पीरजादा अब्बास सिद्दीकी से हमारा कोई सीट शेयरिंग नहीं है। उनकी शेयरिंग कम्युनिस्ट से है। कम्युनिस्ट उनको सीट देंगे कि नहीं यह वे जानें। हमारा गठबंधन तो कम्युनिस्ट से है।”

कांग्रेस के प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी के नेता आनंद शर्मा का बयान उनका निजी बयान है। इसके बारे में पार्टी में चर्चा होगी। पार्टी में सबको बोलने का अधिकार है। कहीं कोई मतभेद या विभाजन जैसी बात नहीं है। उन्होंने कहा कि पार्टी में कोई बागी नहीं है। फिलहाल मैं पार्टी का प्रवक्ता हूं। किसी का व्यक्तिगत प्रवक्ता नहीं हूं।