दो दिन शूटिंग करवाने के बाद विजय भट्ट ने आशा पारेख को कर दिया था फिल्म से बाहर, कहा था कुछ ऐसा

‘The Kapil Sharma Show’ में आशा पारेख ने बताया था कि विजय भट्ट ने दो दिन शूटिंग करवाने के बाद उन्हें फिल्म से बाहर कर दिया था। उन्होंने कहा था कि आप हिरोइन मटेरियल नहीं हो।

Asha Parekh एक्ट्रेस आशा पारेख (Photo- Indian Express)

‘तीसरी मंजिल’, ‘कटी पतंग’ जैसी तमाम सुपरहिट फिल्मों में काम करने वाली आशा पाारेश की गिनती बेबाक एक्ट्रेस में होती है। आशा पारेख ने एक्टिंग के साथ अपनी खूबसूरती से भी लोगों का दिल जीता। टीवी शो ‘द कपिल शर्मा शो’ में आशा पारेख ने अपनी पहली फिल्म का एक किस्सा साझा किया था। आशा पारेख से कपिल शर्मा ने पूछा था कि आपको फिल्मों में ब्रेक कैसे मिला?

इसके जवाब में आशा पारेख ने कहा था, ‘मैं स्टेज पर डांस परफॉर्म किया करती थी। बिमल रॉय ने मुझे स्टेज पर परफॉर्म करते हुए देखा और मुझे बुलाया। उन्होंने मुझसे पूछा कि फिल्म में काम करोगी? अब मैं भी बहुत छोटी थी तो कह दिया कि हां कर लूंगी। इस तरह मुझे मां फिल्म में बहुत छोटा सा रोल मिल गया। फिर धीरे-धीरे बड़ी हो गई और स्कूल भी जाने लगी। ‘गूंज उठी शहनाई’ के लिए विजय भट्ट जी ने मुझे बुलाया।’

आशा पारेख आगे बताती हैं, ‘विजय जी ने कहा कि तुम्हें हिरोइन बना दें और राजेंद्र कुमार जी हीरो हैं। दो दिन की शूटिंग करने के बाद कहा कि आप स्टार मटेरियल नहीं हैं। आपको हम स्टार नहीं ले सकते हैं। फिर उन्होंने मुझे बाहर कर दिया। दो दिन बाद बहरूपिया का मुहूर्त था तो वहां एस. मुखर्जी मिले और उन्होंने मुझे मिलने के लिए बुलाया। उन्होंने मुझे अपने स्टूडियो बुलाया। मैं वहां चली गई और फिर क्या था इसके बाद मैं ‘दिल देकर देखो’ की हिरोइन बन गई।

हेलेन ने कैसे की एक्टिंग की शुरुआत? इस फिल्म में आशा पारेख के साथ शम्मी कपूर नज़र आए थे। फिल्म सुपरहिट साबित हुई थी। इसे नासिर हुसैन ने डायरेक्ट किया था। शो में इस दौरान हेलेन भी मौजूद थीं। हेलेन ने भी अपने संघर्ष के दिनों को याद किया। उन्होंने बताया था कि उनका परिवार बर्मा से शरणार्थी बनकर आया था। परिवार के लिए पैसे कमाने के लिए उन्होंने बहुत छोटी उम्र में ही काम शुरू कर दिया था। हालांकि एक समय पर जाकर उन्हें पहचान मिल गई और इस तरह वह जानी-पहचानी एक्ट्रेस बनीं।