दो महीने बाद तारक मेहता में लौटीं ‘बबीता जी’, ‘अय्यर’ ने कुछ यूं दिया रिएक्शन

सोशल मीडिया पर लगातार एक्टिव रहने वालीं मुनमुन दत्ता ने एक इंटरव्यू में साफ किया कि वह शो से दूर नहीं हुई हैं। इसी के साथ ही एक्ट्रेस की सेट पर वापसी हो चुकी है।

TMKOC, Babita ji, तारक मेहता का उल्टा चश्मा, Babita Ji तारक मेहता का उल्टा चश्मा के ‘अय्यर भाई’ और ‘बबीता जी’ (फोटो सोर्स- मुनमुन दत्ता इंस्टा)

शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा में सबकी फेवरेट ‘बबीता जी’ काफी वक्त से नजर नहीं आ रही थीं। उससे पहले एक्ट्रेस मुनमुन दत्त एक कॉन्ट्रोवर्सी में भी फंस गई थीं, जिसके बाद वह शो तारक मेहता में नजर नहीं आईं। इस बीच खबरें भी आईं कि क्या बबीता जी का किरदार निभाने वालीं मुनमुन दत्ता ने शो छोड़ दिया है? ऐसे में अब अफवाहों पर विराम लगाते हुए मुनमुन दत्ता ने तारक मेहता के सेट पर वापसी कर ली है।

सोशल मीडिया पर लगातार एक्टिव रहने वालीं मुनमुन दत्ता ने एक इंटरव्यू में साफ किया कि वह शो से दूर नहीं हुई हैं। इसी के साथ ही एक्ट्रेस की सेट पर वापसी हो चुकी है। मंगलवार को मुनमुन तारक मेहता का उल्टा चश्मा के सेट पर जब आईं तो सेट पर रौनक दोबारा लौट आई। सोर्स के मुताबिक मुनमुन के तारक मेहता सेट पर लौटते ही सबके चेहरे खिलखिला गए। अब सेट पर आने के बाद से ही मुनमुन लगातार शूट में बिजी हैं।

मुनमुन ने ज्यादातर सीन अपने ऑनस्क्रीन पति अय्यर के साथ दिए हैं। बताते चलें, तारक मेहता का उल्टा चश्मा में बबीता जी की एंट्री लगभग दो महीने बाद हुई है। ऐसे में अय्यर भाई बहुत खुश हैं कि उनकी ऑनस्क्रीन पार्टनर शो पर दोबारा आ गईं। रिपोर्ट्स के मुताबिक अय्यर भाई बबीता जी को बहुत मिस भी कर रहे थे।

बताते चलें, कुछ वक्त पहले मुनमुन दत्ता ने अपना एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था जिसके कंटेंट की वजह से वह विवाद में फंस गई थीं।

दरअसल, वीडियो में एक्ट्रेस गलती से जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल करतीं नजर आई थीं। इस वीडियो को देख कर लोग मुनमुन पर बुरी तरह से भड़क गए थे और उन्हें ट्रोल करने लगे थे। ऐसे में तारक मेहता शो के प्रोड्यूसर ने भी अपने कलाकारों को रिस्पॉन्सिबल होने की बात कही थी।

साथ ही TMKOC शो के प्रोड्यूसर असित मोदी ने ये भी कहा था कि- शो की गरिमा को बनाए रखना भी कलाकार की जिम्मेदारी होती है। ऐसे में इस घटना के बाद से असित मोदी ने अपने कलाकारों से अंडरटेकिंग भी साइन करवाई थी, जिसमें कहा गया था किक सोशल मीडिया पर कोई भी कलाकार जातिवादी या धर्मिक टिप्पणी नहीं कर सकता।