धोनी के इस धुरंधर ने लिया संन्यास, बोले- माही मेरा करियर बना सकते थे

Ishwar Pandey Retirement: मध्य प्रदेश टीम को पहली बार रणजी ट्रॉफी जिताने वाले स्टार तेज गेंदबाज ईश्वर पांडे ने इंटरनेशनल और घरेलू क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. इसकी जानकारी ईश्वर ने खुद सोशल मीडिया के जरिए दी है. साथ ही पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लेकर भी कुछ बड़े बयान दिए हैं.

33 साल के ईश्वर पांडे को दो बार न्यूजीलैंड और इंग्लैंड सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुना गया, लेकिन उन्हें डेब्यू का मौका नहीं मिल सका. इसका मलाल उन्हें अब तक है. ईश्वर ने संन्यास के बाद मीडिया से कहा कि यदि धोनी उन्हें मौका देते, तो आज उनका करियर कुछ और ही होता.

इसी साल मध्य प्रदेश को जिताया पहला रणजी खिताब

संन्यास की घोषणा करने वाले ईश्वर पांडे रोड सेफ्टी समेत अन्य इंटरनेशनल लीग में खेलते रहेंगे. उन्होंने इसी साल जून में रणजी ट्रॉफी खेली थी, जिसमें मध्य प्रदेश टीम को चैम्पियन बनाया था. यह मध्यप्रदेश टीम का पहला रणजी खिताब रहा था.

ईश्वर पांडे ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शेयर की है. इसी के साथ उन्होंने रिटायरमेंट का ऐलान किया. इस लंबे पत्र में बीसीसीआई और मध्य प्रदेश क्रिकेट से लेकर आईपीएल फ्रेंचाइजीज का भी धन्यवाद दिया. साथ ही बताया कि उन्हें विराट कोहली, युवराज सिंह, धोनी, रवींद्र जडेजा और सुरेश रैना जैसे दिग्गजों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर किया. इस पर उन्हें गर्व है . 

चेन्नई टीम के लिए दो सीजन खेले

ईश्वर ने घरेलू, आईपीएल समेत कई लीगों में आधा दर्जन टीमों के लिए क्रिकेट खेला है. उन्होंने मध्य प्रदेश, सेंट्रल जोन, इंडिया ए, चेंन्नई सुपर किंग्स, पुणे वॉरियर्स और राइजिंग पुणे सुपर जाएंट्स के लिए भी खेला है. वह चेन्नई सुपर किंग्स के साथ दो आईपीएल सीजन तक जुड़े रहे. इस दौरान उन्हें धोनी और कोच स्टीफन फ्लेमिंग का मार्गदर्शन मिला था. 

रणजी ट्रॉफी 2022 में प्रदर्शन
मैच: 3
विकेट: 11

धोनी से एक मौका मिलने की उम्मीद थी

संन्यास के बाद ईश्वर ने मीडिया से कहा कि महेंद्र सिंह धोनी यदि उन पर थोड़ा भरोसा दिखाते और एक मौका देते तो उनका करियर कुछ और होता. ईश्वर ने खुलकर कहा कि जब उनकी उम्र 23-24 साल की थी, तब उनकी फिटनेस भी शानदार थी और वह खेल भी अच्छा रहे थे. बस धोनी से एक मौका मिलने की उम्मीद थी. 

ईश्वर पांडे ने करियर में कुल 75 फर्स्ट क्लास मैच खेले, जिसमें 25.92 की बेहतरीन औसत से 263 विकेट लिए हैं. उन्होंने करियर में कुल 71 टी20 मैच खेले. इसमें उन्होंने 68 विकेट झटके हैं. ईश्वर पांडे ने IPL में कुल 25 मैच खेले, जिसमें 18 विकेट लिए हैं.