धोनी के साथ IPL में खेलना चाहता है यह क्रिकेटर; 7 साल में ही थामा था बल्ला, छत पर करता है प्रैक्टिस

धोनी से ही प्रेरित होकर मोक्ष ने 7 साल की उम्र में ही बल्ला थाम लिया था। वे देश के लिए अंडर-14, अंडर-16 और अंडर-19 में खेल चुके हैं।

MS Dhoni, Moksh Murgai

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को फॉलो करने वाले दुनिया भर में फैले हुए हैं। कुछ उनके खेल और व्यवहार को पसंद करते हैं तो कुछ उनके जैसा खिलाड़ी बनना चाहते हैं। सैंकड़ों क्रिकेटर्स का सपना है कि वे धोनी की कप्तानी में कम से कम अब आईपीएल में खेल सके। उन्हीं में एक हैं दिल्ली के क्रिकेटर और राज्य स्तरीय एथलीट मोक्ष मुरगई। वे माही के साथ खेलने के सपने को पूरा करने के लिए दिन-रात मेहनत कर रहे हैं।

धोनी से ही प्रेरित होकर मोक्ष ने 7 साल की उम्र में ही बल्ला थाम लिया था। वे देश के लिए अंडर-14, अंडर-16 और अंडर-19 में खेल चुके हैं। उन्होंने सभी श्रेणियों में जिला और इंटरजोनल स्तर पर भी अपनी छाप छोड़ी है। 2018-19 में उन्होंने लखनऊ में एक टूर्नामेंट में भारत का प्रतिनिधित्व किया। उन्हें 2019-20 के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय के खेल अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। दिल्ली के रहने वाले मोक्ष नोए़डा स्थित आशीष नेहरा क्रिकेट एकेडमी में ट्रेनिंग करते हैं।

मोक्ष रेलवे अंडर-23 रणजी कैंप में भी हिस्सा ले चुके हैं। उन्होंने DDCA League 2018 में अपने ऑलराउंडर खेल से सबको प्रभावित किया था। मोक्ष ने टूर्नामेंट में 1200 से ज्यादा रन बनाने के साथ-साथ 20 विकेट भी चटकाए थे। आक्रामक बल्लेबाजी करने वाले मोक्ष ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते हैं। उनके नाम 30 से ज्यादा शतक और 50 से ज्यादा अर्धशतक हैं। शानदार प्रदर्शन के कारण उन्हें एसएच स्पोर्ट्स, मेरठ से अनुबंध मिला था।

धोनी के साथ खेलने का सपना देखने वाले मोक्ष को पिछले कुछ समय से कोरोनावायरस महामारी के कारण अभ्यास का ज्यादा मौका नहीं मिला। वे लॉकडाउन के दौरान छत पर ही प्रैक्टिस करते हैं। मोक्ष हाल ही में चोट के कारण भी परेशान थे। पीठ की चोट के कारण वे 6 महीने के लिए मैदान से बाहर थे। इस दौरान उनकी इच्छा शक्ति कम नहीं हुई और उन्होंने खेलना नहीं छोड़ा। उन्होंने वापसी के लिए कड़ी मेहनत की है।