नरगिस के मन में आने लगा था आत्महत्या का ख्याल, सुनील दत्त ने ऐसे संभाली थी बात; किताब में दावा

नरगिस के जीवन में एक वक्त ऐसा था, जब उन्होंने आत्महत्या करने का मन बना लिया था। लेकिन बॉलीवुड एक्टर सुनील दत्त ने स्थिति को संभाल लिया था।

nargis dutt, sunil dutt

बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस नरगिस ने अपनी फिल्मों से लोगों का दिल जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। पांच साल की उम्र से एक्टिंग की दुनिया में कदम रखने वाली एक्ट्रेस ने ‘मदर इंडिया’ जैसी कई शानदार फिल्मों में मुख्य भूमिका निभाई। यूं तो नरगिस ने अपने जीवन में अपने अंदाज और काम से खूब नाम कमाया, लेकिन उनकी जिंदगी का सफर आसान नहीं रहा था। एक समय ऐसा भी था, जब उन्होंने आत्महत्या करने का मन बना लिया था। लेकिन बॉलीवुड एक्टर सुनील दत्त ने स्थिति को संभाल लिया था।

नरगिस और सुनील दत्त से जुड़ी इस बात का खुलासा उनपर आधारित पुस्तक ‘डार्लिंगजी- द ट्रू लव स्टोरी ऑफ नरगिस एंड सुनील दत्त’ में किया गया है, जिसे लेखक किश्वर देसाई ने लिखी थी। किताब के मुताबिक दोनों के रिश्ते की शुरुआत ‘मदर इंडिया’ के सेट पर लगी आग के बाद हुई थी।

किताब के अनुसार नरगिस ने सुनील दत्त के बारे में अपनी निजी डायरी में लिखा था, “अगर यह उनकी खातिर नहीं होता तो मैं 8 मार्च से पहले ही अपनी जिंदगी को खत्म कर चुकी होती। जीवन में जिस उथल-पुथल से मैं गुजर रही थी, वह केवल मुझे ही मालूम था। लेकिन उन्होंने मुझसे कहा कि मैं चाहता हूं कि आप जियें। उन्होंने मुझसे यह बात कही और मुझे महसूस हुआ कि मुझे जीना पड़ेगा।”

किताब के अनुसार नरगिस ने सुनील दत्त के बारे में अपनी डायरी में लिखा, “मैं बेशर्मी से अपनी निजी जिंदगी के बारे में बातें कर सकती हैं और मुझे इस बात की कोई चिंता भी नहीं है। क्योंकि मैं जानती हूं कि उनका कंधा हमेशा मेरे लिए मौजूद रहेगा, जिसपर सिर रखकर मैं रो सकती हूं। उनके कपड़े मेरे आंसू भी सोख लेंगे, जिससे लोग मेरा मजाक भी नहीं बना पाएंगे।”

नरगिस और सुनील दत्त की प्रेम कहानी की बात करें तो दोनों की पहली मुलाकात रेडियो सिलोन में हुई थी, जहां एक्ट्रेस एक इंटरव्यू के सिलसिले में गई थीं। फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखने के बाद सुनील दत्त को ‘मदर इंडिया’ फिल्म में नरगिस के बेटे का किरदार मिला। इस फिल्म के दौरान ही दोनों में प्यार हो गया और उन्होंने साल 1958 में शादी कर ली।