नरेंद्र मोदी को मिलना चाहिए झूठ के लिए नोबेल- दिग्विजय सिंह का तंज, लोग करने लगे ट्रोल

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इतालवी मरीन्स के ऊपर भारत में चल रहे केस रद्द किए जाने को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना।

केरल के दो मछुआरों को केरल तट के करीब फरवरी 2012 में मार डालने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने एक दिन पहले ही आरोपी दो इतालवी नौसैनिकों के खिलाफ भारत में चल रहे आपराधिक मामले को बंद करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता समझौते के तहत इस मामले की जांच इटली में ही की जाने की बात कही। अब इसे लेकर कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। दरअसल, पीएम बनने से पहले मोदी ने इतालवी नौसैनिकों के खिलाफ चल रही कार्रवाई को कमजोर बताते हुए इशारों में सोनिया गांधी पर ही निशाना साधा था। हालांकि, अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एनडीए सरकार ने चुप्पी साधी है। इसी चुप्पी को लेकर बुधवार को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने हमला बोला।

क्या था मामला, क्या बोले थे पीएम मोदी?: बता दें कि फरवरी 2012 में भारत ने आरोप लगाया था कि इटली के ध्वज वाले तेल टैंकर एमवी एनरिका लैक्सी पर सवार दो नौसैनिकों ने भारत के विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र में मछली पकड़ रहे दो भारतीय मछुआरों को मार डाला। इस मामले में तत्कालीन कांग्रेस सरकार इतालवी नौसैनिकों को पकड़कर उनपर केस दर्ज कराया था। तब पीएम मोदी ने तंज कसते हुए ट्विटर पर पूछा था कि इतालवी मरीन्स ने हमारे मछुआरों की हत्या कर दी। अगर ‘मैडम’ इतनी देशभक्त हैं तो क्या वे बताएंगी कि नौसैनिकों को किस जेल में डाला गया है?

क्या बोले दिग्विजय सिंह?: मोदी का यही ट्वीट अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद वायरल हो रहा है। ट्विटर पर एक यूजर ने कहा कि मोदी ने सीएम रहते हुए इस मामले में प्रोपेगंडा फैलाया था। इसी को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा, “मैं सहमत हूं, बहकाने और पाखंड के साथ झूठ फैलाना भी जोड़ लें। झूठ बोलने के मामले में मोदी को सिर्फ नोबेल प्राइज नहीं मिलेगा, बल्कि अगर झूठों की वर्ल्ड चैंपियनशिप हो तो पीएम मोदी को हर बार गोल्ड मेडल मिलेगा। उन्हें हराना नामुमकिन है।”

सोशल मीडिया पर आई कमेंट्स की बाढ़: दिग्विजय के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया पर कमेंट्स की बाढ़ आ गई। भरत राव नाम के एक यूजर ने कहा, “मोदीजी सिर्फ झूठ बोलते हैं। पिछले सात सालों में उन्होंने एक भी बार इस मुद्दे को नहीं उठाया। मोदीजी सिर्फ भ्रष्ट और झूठों की मदद से अखबारों और न्यूज चैनलों की हेडलाइन मैनेज करने में लगे रहे हैं। यहां तक कि मोदीजी ने इटली की सरकार के साथ समझौता भी कर लिया।” एक और यूजर @harmeetmakhija ने लिखा, “हम तो यह सब बहुत पहले से जानतें है कि वे ऐसा करने में काफी अच्छे हैं। लेकिन ये आपसे बेहतर कौन जानता होगा राजा साहेब।”