नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार ने कश्मीर को बता दिया अलग देश, SAD बोला- शहीदों का अपमान

माली ने लिखा कि कश्मीर एक अलग देश था, भारत और पाकिस्तान ने उसपर अवैध कब्जा किया था। सिद्धू के सलाहकार ने कहा कि कश्मीर, कश्मीर के लोगों का है।

navjot singh sidhu, the kapil sharma show, congress नवजोत सिंह सिद्धू हाल ही में पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बनाए गए हैं। (Photo-File)

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मालविंदर सिंह माली ने एक विवादित बयान दिया है। जिसके बाद वे कई नेताओं के निशाने पर आ गए हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर सांप्रदायिक तनाव फैलाने के आरोप लगाने के बाद माली ने कश्मीर को अलग देश बताया है।

माली ने यह विवादित बयान फेसबुक पर पोस्ट के जरिए दी है। जिसके बाद राजनीति गरमा गई है और विपक्ष ने इसे शहीद परिवार का अपमान बताते हुए राहुल गांधी से सवाल किया है। माली ने लिखा कि कश्मीर एक अलग देश था, भारत और पाकिस्तान ने उसपर अवैध कब्जा किया था। सिद्धू के सलाहकार ने कहा कि कश्मीर, कश्मीर के लोगों का है। माली के ट्वीट पर शिरोमणि अकाली दल (SAD) के नेता बिक्रम मजीठिया ने निशाना साधा है।

उन्होंने कहा कि उनका यह बयान शहीदों के परिवारों का अपमान है। माली ने कहा है कि कश्मीर, कश्मीरियों का देश है, यानी कि कश्मीर अलग देश है। उन्होंने यह भी कहा है कि भारत-पाकिस्तान ने उस पर अवैध कब्जा किया है।

मजीठिया ने आगे कहा कि राहुल गांधी को बताना चाहिए कि यह बयान शहीदों के परिवारों का अपमान है या नहीं? अगर राहुल गांधी इससे सहमत नहीं हैं तो फिर कांग्रेस का असली चेहरा सबके सामने आ जाएगा और अगर ऐसा नहीं है तो फिर वह सिद्धू के खिलाफ क्या एक्शन लेंगे।

उन्होंने कहा कि अमरिंदर सिंह पर पंजाब में पाकिस्तान पर अशांति फैलाने का आरोप लगा रहे हैं जबकि सिद्धू पाकिस्तान के आर्मी चीफ को गले लगाते नजर आए थे. पाकिस्तान और कांग्रेस के साथ एक जैसा बर्ताव किया जाना चाहिए।

वहीं बीजेपी नेता विनीत जोशी ने मालविंदर सिंह माली के बयान की आलोचना करते हुए उनके खिलाफ एक्शन की मांग की है। उन्होंने कहा, ‘इससे पता चलता है कि ये लोग पंजाब को किस ओर ले जा रहे हैं। कई लोगों ने कश्मीर के लिए शहादत दी है. उनका यह बयान शहीदों के परिवार का अपमान है।