नवजोत सिंह सिद्धू मौकापरस्त, ज्वाइन कर सकते हैं AAP- पंजाब CM कैप्टन अमरिंदर सिंह का निशाना

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने एक बार के कैबिनेट सहयोगी नवजोत सिंह सिद्धू पर एक बार फिर हमला करते हुए कहा कि वह आम आदमी पार्टी (आप) संयोजक अरविंद केजरीवाल के साथ बातचीत कर रहे हैं और वह किसी भी पल पाला बदल सकते हैं।

punjab, sidhu

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने एक बार के कैबिनेट सहयोगी नवजोत सिंह सिद्धू पर एक बार फिर हमला करते हुए कहा कि वह आम आदमी पार्टी (आप) संयोजक अरविंद केजरीवाल के साथ बातचीत कर रहे हैं और वह किसी भी पल पाला बदल सकते हैं।

एक पंजाबी चैनल को दिए एक साक्षात्कार में, मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि सिद्धू कई बार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिल चुके हैं। अमरिंदर सिंह ने बताया, ‘हमारी जानकारी के अनुसार, वह केजरीवाल से 3-4 बार मिल चुके हैं और उनके पार्टी में शामिल होने की उम्मीद है। यह स्पष्ट है कि वह मेरे खिलाफ पटियाला से चुनाव लड़ेंगे। ऐसा करने के लिए उनका स्वागत है। उसे लड़ने दीजिए।” मालूम हो कि अगले साल की शुरुआत में पंजाब विधानसभा चुनाव होने हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, “सिद्धू एक मौकापरस्त शख्स हैं। वह मुझ पर और मेरे नेतृत्व पर हमला कर रहे हैं … वह खुद के बारे में क्या सोचते हैं? ”

Election Results 2021 Live Updates

गौरतलब है कि यह दूसरी बार है जब अमरिंदर सिंह ने पिछले कुछ वक्त में सिद्धू पर हमला बोला है। पंजाबी टीवी चैनल को दिए एक साक्षात्कार में, सिंह ने सिद्धू पर अनुशासनहीनता का आरोप लगाते हुए कहा था कि वह “मुख्यमंत्री” पर लगातार हमले कर रहे हैं और यह साफ है कि वह कांग्रेस छोड़ना चाहते हैं।

अमरिंदर सिंह ने कहा कि गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी करने के मामले को लेकर सिद्धू अनावश्यक रूप से पंजाब सरकार की आलोचना कर रहे हैं। सिंह ने कहा, “समय-समय पर, मैंने यह समझाने की कोशिश की है कि गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी से जुड़ा मामले यथावत है। यह फैसला केवल पुलिस फायरिंग से संबंधित एक मामले में आया है, जिसमें मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर कार्रवाई की जाएगी … उनका नाम एफआईआर और चार्जशीट में होगा।’

बता दें कि अमृतसर से विधायक सिद्धू ने पहले तो एक वीडियो संदेश और बाद में एक संवाददाता सम्मेलन के जरिए मुख्यमंत्री पर हमला बोला था। सिद्धू ने गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी से जुड़े मामले में जांच के तरीके पर नाराजगी जाहिर की थी।