नारायन राणे की अरेस्ट का आर्डर देने वाले मंत्री परब को ईडी का नोटिस, संजय राउत ने समझाई क्रोनोलॉजी

पूरे मामले पर शिवसेना नेता संजय राउत ने दावा किया कि केंद्रीय एजेंसी की ओर से आया नोटिस ‘ उम्मीद के अनुरूप’ है और पार्टी इससे कानूनी तरीके से लड़ेगी।

Anil Parab, Enforcement Directorate, Shiv Sena महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब और पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

नारायन राणे की अरेस्ट का आर्डर देने वाले मंत्री परब को ईडी की तरफ से नोटिस जारी की गयी है। हलांकि ई़डी की तरफ से कहा गया है कि महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री को पूर्व मंत्री अनिल देशमुख एवं अन्य से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पूछताछ के लिए तलब किया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे नीत महाविकास आघाड़ी सरकार में संसदीय कार्य मंत्री परब को ईडी की ओर से कहा गया है कि वह दक्षिण मुंबई में एजेंसी के कार्यालय में मामले के जांच अधिकारी के समक्ष मंगलवार को पेश हों।

पूरे मामले पर शिवसेना नेता संजय राउत ने दावा किया कि केंद्रीय एजेंसी की ओर से आया नोटिस ‘ उम्मीद के अनुरूप’ है और पार्टी इससे कानूनी तरीके से लड़ेगी। राउत ने ट्वीट किया, ‘‘ बहुत बढ़िया, जैसे ही जन आशीर्वाद यात्रा समाप्त हुई, अनिल परब को ईडी द्वारा उम्मीद के अनुरूप नोटिस भेजा गया। केंद्र सरकार ने अपना काम शुरू कर दिया। भूकंप का केंद्र रत्नागिरी था। परब जिले के प्रभारी मंत्री हैं। घटनाक्रम को समझिए। हम कानूनी रूप से इस लड़ाई को लड़ेंगे। जय महाराष्ट्र।’’

हाल में, केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता नारायण राणे को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी करने पर रत्नागिरी से गिरफ्तार किया गया था। राणे ने शिवसेना और ठाकरे के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान की थी। गौरतलब है कि भाजपा महाराष्ट्र की महा विकास आघाड़ी सरकार में संसदीय कार्य मंत्री परब को उनकी कथित ‘आय से अधिक संपत्ति’ और राणे की गिरफ्तारी में भूमिका को लेकर निशाना बना रही है।

बताते चलें कि केंद्रीय मंत्री नारायण राणे द्वारा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने से जुड़े कथित बयान पर बड़ा विवाद खड़ा हो गया था। शिवसैनिकों की तरफ से इसका जमकर विरोध किया गया था बाद में राणे को पुलिस ने हिरासत में भी ले लिया था। भड़के हुए शिवसैनिकों ने मुंबई में जूहू स्थित राणे के घर के बाहर जमकर हंगामा किया था।