पंजाबः रावत बोले- पॉपुलर हैं सिद्धू, चुनाव उनके नेतृत्व में लड़ेंगे; जाखड़ ने कहा- CM के अधिकार ‘‘कमजोर’’ होने की आशंका है

झाखड़ ने ट्वीट किया, ‘‘चरणचीत सिहं चन्नी के पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के दिन, रावत का ‘‘ सिद्धू के नेतृत्व में चुनाव लड़ने का बयान’’ काफी चौंकाने वाला है।”

Sunil Jhakar, Punjab, Congress पूर्व PPCC चीफ सुनील जाखड़। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः राणा सिमरनजीत सिंह)

पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में चरणजीत सिंह चन्नी के शपथ ग्रहण समारोह से पहले, कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने सोमवार को एआईसीसी महासचिव हरीश रावत के उस कथित बयान पर सवाल उठाए, जिसमें उन्होंने आगामी राज्य विधानसभा चुनाव कांग्रेस की राज्य इकाई के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के नेतृत्व में लड़े जाने की बात कही थी।

कांग्रेस की राज्य इकाई के पूर्व प्रमुख जाखड़ ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव हरीश रावत के बयान को ‘‘चौंकाने’’ वाला करार देते हुए कहा कि इससे मुख्यमंत्री के अधिकारों के ‘‘कमजोर’’ होने की आशंका है। झाखड़ ने ट्वीट किया, ‘‘चरणचीत सिहं चन्नी के पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के दिन, रावत का ‘‘ सिद्धू के नेतृत्व में चुनाव लड़ने का बयान’’ काफी चौंकाने वाला है। यह न केवल मुख्यमंत्री के अधिकारों को कमजोर कर सकता है बल्कि इस पद के लिए उनके चयन के कारणों को भी नकारेगा।’’

चन्नी ने सोमवार दोपहर पंजाब के मुख्यमंत्री के पद की शपथ ली। रावत ने कथित तौर पर कहा था कि अगले साल पंजाब विधानसभा चुनाव सिद्धू के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। सुनील जाखड़ का नाम भी नए मुख्यमंत्री के लिए प्रबल दावेदारों में शामिल था। कांग्रेस के वरिष्ठ दलित नेता चरणजीत सिंह चन्नी को रविवार को पार्टी विधायक दल का नया नेता चुना गया और वह आज राज्य के अगले मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। ऐसा कहा जा रहा है कि सिद्धू ने चन्नी के नाम का समर्थन किया था। भाजपा ने अमित मालविया ने जाखड़ के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे दलित समुदाय का एक ‘‘बड़ा अपमान’’ बताया है।