पंजाबः CM बनने से अंबिका सोनी का इन्कार; BJP ने पूछा- सिद्धू पर कैप्टन के आरोप को लेकर कांग्रेस क्यों है शांत?

कांग्रेस आलाकमान से मुलाकात के बाद मीडिया कर्मियों ने बात करते हुए अंबिका सोनी ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री बनने से इंकार कर दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि मेरा 50 साल से मानना है कि पंजाब का मुख्यमंत्री कोई सिख होना चाहिए।

पंजाब सीएम पद की रेस में शामिल पूर्व केंद्रीय मंत्री और दिग्गज कांग्रेसी नेत्री अंबिका सोनी ने मुख्यमंत्री बनने से इनकार कर दिया है। (एक्सप्रेस फोटो)

कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद पंजाब के नए मुख्यमंत्री के नाम को लेकर कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व की बैठक चल रही है। कांग्रेस विधायकों ने भी राज्य के नए मुख्यमंत्री के चुनाव का फैसला कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर छोड़ दिया है। इसी बीच पंजाब सीएम पद की रेस में शामिल पूर्व केंद्रीय मंत्री और दिग्गज कांग्रेसी नेत्री अंबिका सोनी ने मुख्यमंत्री बनने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा है कि पंजाब का मुख्यमंत्री कोई सिख चेहरा ही होना चाहिए। वहीं कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि कैप्टन कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने वाला कोई कदम नहीं उठाएंगे।

रविवार को कांग्रेस आलाकमान से मुलाकात के बाद मीडिया कर्मियों ने बात करते हुए अंबिका सोनी ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री बनने से इंकार कर दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि मेरा 50 साल से मानना है कि पंजाब का मुख्यमंत्री कोई सिख होना चाहिए क्योंकि यह देश का एकमात्र राज्य है जहां सिख बहुसंख्यक हैं। इसके अलावा उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा को लेकर कहा कि पार्टी की प्रक्रिया चल रही है। प्रभारी एक-एक विधायक की राय लिखित में ली जा रही है। पंजाब इकाई में कोई भी टकराव नहीं है।