परिवार शुरू करने से पहले डाउट में थीं करीना, समझ नहीं पा रही थीं क्या करें, पति सैफ ने ऐसे बढ़ाया था मनोबल

करीना ने बताया- ‘सच ये है कि मुझे मां बनने का अनुभव बहुत अच्छा लग रहा है और मैं एक्टिंग करना भी बहुत पसंद करती हूं, करियर छोड़ नहीं सकती।

Kareena Kapoor Khan, करीना कपूर, Kareena Kapoo करीना कपूर खान तैमूर और जहांगीर के साथ (फोटो सोर्श- करीना इंस्टा)

करीना कपूर खान न सिर्फ एक एक्ट्रेस हैं बल्कि अब दो बच्चों की सुपरमॉम भी हैं। करीना अपने करियर के साथ साथ अपने घर परिवार को भी बखूबी देख रही हैं। एक्ट्रेस करीना का कहना है कि वह यह सब सिर्फ इसलिए कर पाईं क्योंकि उन्हें पति सैफ अली खान से वो सपोर्ट मिला। करीना बताती हैं कि वे दोनों शादी के बाद बेहद खुश थे, वहीं एक दिन उन्होंने सैफ से कहा कि अब वह परिवार चाहती हैं।

तब सैफ ने उनसे कहा था कि एक बार फिर सोचलो। ऐसे में करीना थोड़ा डाउट में थीं कि वह क्या करें। पर फिर उनके पति और एक्टर सैफ अली खान ने करीना का प्रोत्साहन बढ़ाया। करीना ने अपनी किताब प्रेग्नेंसी बाइबल में इस बात का जिक्र किया है कि वह परिवार शुरू करने से पहले दुविधा में थीं। वहीं एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक करीना ने बताया था कि कैसे पति सैफ अली खान ने उनका मनोबल बढ़ाया और उनका फैमिली वाला सपना पूरा किया।

करीना बताती हैं कि वह अपना करियर और मदरहुड दोनों में से किसी से भी वंचित नहीं रहना चाहती थीं। करीना ने बताया- ‘सच ये है कि मुझे मां बनने का अनुभव बहुत अच्छा लग रहा है और मैं एक्टिंग करना भी बहुत पसंद करती हूं, करियर छोड़ नहीं सकती। प्रेग्नेंसी के वक्त या शादी के वक्त भी मैंने अपने इन फैसलों पर बहुत सोचा। मैंने सैफ को से भी इस बारे में पूछा कि हमें क्या करना चाहिए। मुझे लगा था कि लोग मुझे अलग तरह से देखना शुरू कर देंगे। ‘

करीना ने आगे बताया था कि कैसे सैफ ने उन्हें उनके फैसले पर सपोर्ट किया। करीना ने बताया कि- ‘सैफ ने कहा अरे तुम कर सकती हो। हम दोनों ने इस रिलेशनशिप की फाउंडेशन को खड़ा करने में बहुत मेहनत की है। मुझे यकीन है कि मेरे बच्चे भी इसपर खरे उतरेंगे। आशा है कि जेह भी तैमूर की तरह ही उतना कॉन्फिडेंट हो।’

अपनी सास शर्मिला टैगोर और मां बबीता के लिए एक्ट्रेस बोलती हैं- ‘मेरी सास और मां दोनों ही इस मुश्किल वक्त में हमेशा मेरे साथ खड़ी रहीं, दोनों ने हमेशा सॉलिड एडवाइज दी हैं। जिनको मान कर मुझे बहुत मदद मिली।’

उन्होंने आगे कहा- मेरी मदर इन लॉ ही वह पहली महिला थीं जिन्होंने मुझे कहा कि इन सबके बीच काम करते रहना। उन्होंने कहा कि जो भी करना है करो पर पूरे कॉन्फिडेंस के साथ। उन्होंने भी शादी के बाद कुछ बेहद शानदार फिल्मों में काम किया था। ऐसे में वह एक इंस्पिरेशन हैं।’