पश्चिम बंगाल: 27 मार्च से 29 अप्रैल तक आठ चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, 2 मई को नतीजे

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव 27 मार्च से 29 अप्रैल तक आठ चरणों में होंगे। ये जानकारी चुनाव आयोग ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए दी।

bengal election, TMC,BJP

आज चुनाव आयोग ने चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के लिए मतदान की तारीखों की घोषणा की। राज्यों में तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल, असम और केंद्र शासित प्रदेश में पुदुचेरी शामिल हैं। यहां अप्रैल-मई में चुनाव होने हैं।पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव 27 मार्च से 29 अप्रैल तक आठ चरणों में होंगे। ये जानकारी चुनाव आयोग ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए दी। बंगाल चुनाव के नतीजे 2 मई को घोषित किए जाएंगे। मतदान आठ चरणों में 27 मार्च, 1 अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को होगा। हिंसा की घटनाओं के चलते राज्य में आठ चरणों में वोटिंग तय की गई है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि तारीखों की घोषणा के साथ ही आचार संहिता लागू हो जाएगी। वहीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग द्वारा आठ चरणों में वोटिंग कराए जाने पर सवाल खड़े किए हैं।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में असल मुकाबला भाजपा और राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के बीच है। भाजपा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को टक्कर देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह को चुनावी मैदान में उतार चुकी है। राज्य में लगातार रैलियों की जा रही हैं। भाजपा बंगाल चुनाव के लिए पूरा जोर लगा रही है। वहीं तृणमूल ने भगवा पार्टी को पूरे प्रचार अभियान में “बाहरी” पार्टी करार दिया है और दावा किया है कि बीजेपी पश्चिम बंगाल को नहीं समझती है।

बंगाल में दो बार की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीजेपी से कड़ी चुनौती का सामना कर रही हैं। TMC नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच के बीच चुनावी राह ममता बनर्जी के लिए आसान नहीं रहने वाली है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव:
पहला चरण – 27 मार्च
दूसरा चरण – 1 अप्रैल
तीसरा चरण – 6 अप्रैल
चौथा चरण – 10 अप्रैल
पांचवां चरण – 17 अप्रैल
छठा चरण – 22 अप्रैल
सातवां चरण – 26 अप्रैल
आठवां चरण – 29 अप्रैल

इस बीच तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी ने गुरुवार को कहा कि भाजपा TMC की “जय बांगला ” बोलने पर आलोचना कैसे कर सकती है जब उसका अपना नारा “सोनार बांग्ला” है जो कि बांग्लादेश के राष्ट्रगान का हिस्सा है।

एक जनसभा को संबोधित करते हुए बनर्जी ने कहा, “वे (भाजपा) जय बंगला का नारा लगाने के लिए हमें बांग्लादेश समर्थक कहते हैं। लेकिन उनके अपने नारे ” सोनार बांग्ला ‘के बारे में क्या?”