पस्त इकनॉमी के बीच सार्वजनिक उद्यम बेचना मानसिक दिवालियापन के संकेत, GDP ग्रोथ गिरती रही…इससे मोदी सरकार नहीं कर सकती इन्कार- बोले BJP सांसद

श्रीधर नाम के एक यूजर ने भाजपा नेता से पूछा कि तो ऐसे समय में क्या करना चाहिए? इसपर स्वामी ने लिखा, “उद्देश्यों, प्राथमिकताओं, रणनीति और संसाधन जुटाने के स्पष्ट विवरण के आधार पर प्रासंगिक आर्थिक नीति लागू करें। डिटेल्स के लिए, रूपा द्वारा प्रकाशित मेरी पुस्तक रीसेट पढ़ें।

Subramanian swamy, bjp, modi government, economy, public sector units, india china news, india china border dispute, india china border, india china relations, india china war, india china, India News in Hindi, Latest India News Updates, jansatta सुब्रमण्यन स्वामी ने सार्वजनिक उद्यम को बेचे जाने पर मोदी सरकार को घेरा है। (express file)

भारतीय जनता पार्टी (BJP) से राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यन स्वामी अक्सर मोदी सरकार पर निशाना साधते रहते हैं। रविवार को एक ट्वीट कर उन्होंने सार्वजनिक उद्यम को बेचे जाने पर सवाल खड़े किए। उन्हों कहा कि ऐसे समय में जब अर्थव्यवस्था लगातार गिर रही है, सार्वजनिक उद्यम बेचना मानसिक दिवालियापन है।

स्वामी ने ट्वीट कर लिखा, “जब देश की अर्थव्यवस्था में गहरी गिरावट हो रही है ऐसे समय में सार्वजनिक उद्यम को बेचना मानसिक दिवालियापन और हताशा का संकेत है। यह एक अच्छी सोच नहीं है। मोदी सरकार इस बात से इनकार नहीं कर सकती कि सीएसओ के आंकड़े बताते हैं कि 2016 के बाद से जीडीपी की ग्रोथ माही तिमाही दर साल गिरती रही है। स्वामी के इस ट्वीट पर यूजर्स भी अपनी प्रतिकृया दे रहे हैं।

श्रीधर नाम के एक यूजर ने भाजपा नेता से पूछा कि तो ऐसे समय में क्या करना चाहिए? इसपर स्वामी ने लिखा, “उद्देश्यों, प्राथमिकताओं, रणनीति और संसाधन जुटाने के स्पष्ट विवरण के आधार पर प्रासंगिक आर्थिक नीति लागू करें। डिटेल्स के लिए, रूपा द्वारा प्रकाशित मेरी पुस्तक रीसेट पढ़ें।