पहली बार भारत और तालिबान के बीच हुई बातचीत, दोहा में राजदूत से मिले तालिबानी नेता, आतंकवाद समेत इन मुद्दों पर चर्चा

पहली बार भारत और तालिबान के बीच औपचारिक बातचीत हुई है। कतर में भारतीय राजदूत दीपक मित्तल से तालिबानी नेता मिले। भारतीय राजनयिक ने आतंकवाद पर लगाम के मुद्दे को जोरशोर से उठाया।

आधुनिक हथियारों से लैस तालिबानी लड़ाके। फोटो- एपी

अफगानिस्तान में कब्जे का बाद पहली बार भारत और तालिबानी नेता के बीच औपचारिक मुलाकात हुई है। कतर के दोहा में भारत के राजदूत और तालिबानी नेता के बीच बातचीत हुई। भारत ने इस चर्चा में भी आतंकवाद का मुद्दा उठाते हुए कहा कि अफगानिस्तान की ज़मीन का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए नहीं होना चाहिए। कतर में भारत के राजदूत दीपक मित्तल ने अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों को लेकर भी चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि भारत अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।

तालिबानी नेता के साथ भारतीय राजदूत की यह बैठक भारत के दूतावास में हुई। विदेश मंत्रालय के मुताबिक बातचीत की यह पहले तालिबान ने की थी। मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में बताया गया, ‘चर्चा का केंद्र बिंदु अफगानिस्तान में फंसे भारतीयों की स्वदेश वापसी और सुरक्षा था। इसके अलावा अफगानिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यों को निकालने और सुरक्षा पर भी बातचीत हुई।’