पांच राज्यों में जनसभाएं करेंगे राकेश टिकैत, 1 मार्च से शुरू होगा अभियान, जानें क्या है प्लान

मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने कहा कि इस दौरान राजस्थान में दो बैठकें, मध्य प्रदेश में तीन बैठकें और कर्नाटक में 20,21, और 22 मार्च को तीन बैठकों का आयोजन किया जाएगा।

rakesh tikait, kisan mahapanchayt , farm laws

भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत मार्च महीने में पांच राज्यों का दौरा करेंगे। बीकेयू के एक पदाधिकारी धर्मेंद्र मलिक ने शनिवार को बताया कि आंदोलन को तेज करने के लिए टिकैत उत्तराखंड, राजस्थान, मध्यप्रदेश,कर्नाटक और तेलंगाना में किसानों के साथ बैठक करेंगे। साथ ही उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश में दो बैठकें आयोजित की जाएगी।

मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने कहा कि इस दौरान राजस्थान में दो बैठकें, मध्य प्रदेश में तीन बैठकें और कर्नाटक में 20,21, और 22 मार्च को तीन बैठकों का आयोजन किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ राज्यों में चुनाव के कारण हमें अभी अनुमति नहीं मिली है।  अगर अनुमति मिल जाती है तो तेलंगाना में भी बैठक निर्धारित समय के अनुसार ही आयोजित की जाएगी।

बताते चलें कि हाल ही में राकेश टिकैत ने भी कहा था कि वो किसानों को एक करने के लिए पूरे देश का दौरा करेंगे। आने वाले दिनों में वो कर्नाटक जा रहे हैं उसके बाद तेलंगाना भी जाएंगे। उन्होंने कहा कि जब देश एक है आनाजों का दाम एक है तो क्यों नहीं पूरे देश में जाएंगे?

किसानों को है देश से प्यार: राकेश टिकैत ने कहा था कि 26 जनवरी की घटना के मामले में देश के किसानों को बदनाम करने की साजिश की गई थी। देश के किसानों को तिरंगे से प्यार है, लेकिन इस देश के नेताओं को नहीं है। टिकैत ने कहा था कि सरकार को किसानों की तरफ से खुली चुनौती है कि सरकार ने तीनों कृषि कानून वापस नहीं लिए तो बड़ी-बड़ी कंपियों के गोदाम को घ्वस्त करने का काम किसान करेंगे।

90 से अधिक दिनों से जारी है आंदोलन: तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं। सिंघू, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर हजारों की संख्या में किसान आंदोलन कर रहे हैं। सरकार की तरफ से किसान यूनियनों के साथ 11 दौर की औपचारिक बातचीत हुई थी लेकिन उसके बाद भी कोई परिणाम सामने नहीं आया।