पाक को शाह की चेतावनी पर बख्शी बोले- हमारे पास कई ऑप्शन, पाक पैनलिस्ट ने कसा तंज तो अर्नब ने दिया ये जवाब

पाकिस्तान के पैनलिस्ट ने जब बालाकोट एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाया तो अर्नब गोस्वामी ने पाक पीएम इमरान खान का ही बयान सामने रख दिया। पाक पैनलिस्ट, रि मेजर जनरल जी.डी बक्शी की बातों को काटते हुए तंज कस रहे थे।

GD Bakshi india surgical strike, amit shah पूर्व मेजर जनरल जीडी बख्शी। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः शुभम दत्ता)

गृह मंत्री अमित शाह के पाकिस्तान को दिए सर्जिकल स्ट्राइक की चेतावनी को लेकर एक टीवी टिबेट में भारत और पाक के पैनलिस्टों के बीच तीखी बहस देखने को मिली। रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी ने ऐंकर के सवालों को जवाब देते हुए कहा कि भारत के पास पाकिस्तान के लिए कई ऑप्शन हैं।

रिपब्लिक टीवी पर भारत-पाक रिलेशन पर चल रहे एक डीबेट में ऐंकर रूप में मौजूद अर्णब गोस्वामी ने जब जीडी बख्शी से भारत के ऑप्शन के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि हमारे पास कई ऑप्शन हैं। हमारे पास सर्जिकल स्ट्राइक है, एयर स्ट्राइक है, क्रूज मिसाइल अटैक है। बख्शी ने इस दौरान पुलवामा और उरी के हमले के बाद के पाक पर की गई कार्रवाई के बारे भी बताया।

मेजर बख्शी अभी बोल रही रहे थे, कि पाकिस्तान से जुड़े पैनलिस्ट ने उन्हें टोकना शुरू कर दिया। पाकिस्तान पैनलिस्ट ने कहा कि क्या भारत ने पहले इन ऑप्शन्स को ट्राई नहीं किया है? उसका क्या परिणाम रहा है। सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में फेक स्टोरी इंडिया में फैलाया गया है। इसके बाद अर्नब ने इसका जवाब देते हुए कहा कि इसके बारे में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी जानते हैं।

अर्नब ने कहा कि इमरान खान ने खुद स्वीकार किया है कि भारत ने हमपर बम गिराए हैं। उन्होंने पब्लिकली इसे स्वीकार किया है। उन्होंने टेलीवजन पर भी इसे कहा है।

बता दें कि गृहमंत्री अमित शाह ने गोवा में कहा था कि पाकिस्तान अगर नहीं सुधरा तो एक और सर्जिकल स्ट्राइक हो सकती है। शाह ने कहा है कि भारत की सीमाओं के साथ छेड़खानी करना इतना सरल नहीं है, जैसा सवाल आएगा, वैसा जवाब दिया जाएगा। एक समय था जब बात होती थी, अब बात नहीं होती है।

बता दें कि एक बार फिर से कश्मीर में अल्पसंख्यकों के खिलाफ आंतकी घटनाएं बढ़ने लगी हैं। आतंकियों के निशाने पर इस बार कश्मीरी पंडित के साथ-साथ सिख समुदाय भी है। इन समुदायों के कई लोगों को आतंकी हाल के दिनों में मार चुके हैं। इसके साथ ही सेना भी इन हमलों का शिकार हुई हैं। हाल के दिनों में हुए मुठभेड़ों में आतंकियों के साथ-साथ कई जवान भी शहीद हो गए हैं। शाह का बयान इन्हीं घटनाओं से जोड़ कर देखा जा रहा है।