पार्टी में रार के बीच कपिल शर्मा के शो में जाएंगे तेज प्रताप, जगदानंद को बताया चाचा, कहा- भतीजे से आकर मिलना चाहिए

तेज प्रताप बनाम जगदानंद के बीच जारी तनातनी के बीच लालू यादव के बड़े पुत्र शनिवार पार्टी दफ्तर पहुंचे तो उन्होंने बताया कि वह जल्द ही कपिल शर्मा के टीवी शो में दिखाई देंगे।

Tej Pratap Kapil Sharma तेज प्रताप यादव को आया कपिल शर्मा शो से बुलावा (फाइल फोटो) सोर्स- Indian Express

राष्ट्रीय जनता दल में इन दिनों रार की स्थिति बनी हुई है। तेज प्रताप बनाम जगदानंद के बीच जारी तनातनी के बीच लालू यादव के बड़े पुत्र शनिवार पार्टी दफ्तर पहुंचे तो उन्होंने बताया कि वह जल्द ही कपिल शर्मा के टीवी शो में दिखाई देंगे। उन्होंने बताया कि कपिल शर्मा ने शो में आने का आमंत्रण दिया है, बस फ्लाइट के टिकट का इंतजार है। तेज प्रताप ने मजाकिया लहजे में कहा कि जैसे ही टिकट आएगा तो वह चले जाएंगे।

शनिवार को तेज प्रताप जब पार्टी दफ्तर पहुंचे तो प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पहले से वहां मौजूद थे। दोनों ही नेताओं के बीच किसी तरह की बातचीत नहीं हुई। पार्टी के दोनों सीनियर नेता अपने-अपने कक्ष में बैठे रहे। लालू पुत्र जब बाहर निकले तो मीडिया सवालों के साथ उन पर टूट पड़ा, इसके जवाब में तेज प्रताप ने कहा कि जगदानंद सिंह मेरे चेंबर में आ सकते थे, हमसे भतीजे की तरह मिल सकते थे। इधर छात्र राजद के नए प्रदेश अध्यक्ष गगन कुमार, तेज प्रताप से मिलने के लिए गए थे।

विवाद के बाद शनिवार को तेज प्रताप पहली बार पार्टी कार्यालय पहुंचे थे। दफ्तर में जाकर वह सीधे लालू यादव के केबिन में गए। दो बड़े नेताओं के बीच मनमुटाव का खामियाजा पार्टी के दूसरे कार्यकर्ताओं को उठाना पड़ा। नेता और कार्यकर्ताओं का कारवां कभी तेज प्रपात के केबिन में नजर आता तो कभी जगदानंद के कक्ष में। स्थानीय मीडिया के अनुसार, दोनों ही नेताओं के बीच डायरेक्ट बात नहीं हो रही थी, वह कार्यकर्ताओं के माध्यम से संवाद कर रहे थे।

अपने करीबी आकाश यादव के पार्टी छोड़ने पर तेज प्रताप ने कहा कि अगर कोई संगठन किसी कार्यकर्ता की बेइज्जती करेगा तो वह वहां कैसे रह सकता है। उन्होंने कहा कि आकाश यादव को नई पारी के लिए शुभकामनाएं देते हैं। उन्होंने कहा कि मैं तो लोकतंत्र के लिए लड़ ही रहा हूं, जिसका जहां जाना है वह वहां जाने के लिए आजाद है, किसी के जाने से आरजेडी कमजोर नहीं होगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आकाश यादव को तेज प्रताप का बेहद करीबी माना जाता था, वह छात्र राजद के अध्यक्ष भी थे, लेकिन जगदानंद द्वारा पैदा हुए विवाद के बीच उनकी जगह गगन कुमार को छात्र राजद का अध्यक्ष बना दिया गया। इसके बाद जगदानंद और तेज प्रताप खुलकर आमने-सामने आ गए थे।