पिता के कारण एमएस धोनी को खरीद पाए थे एन श्रीनिवासन, चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक ने बताया क्या था IPL नीलामी का अंकगणित

एन श्रीनिवासन ने एक बार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा था कि उन्होंने 2011 में एमएस धोनी की कप्तानी को बचाने के लिए चयन पैनल को खारिज कर दिया और बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में अपने सभी अधिकार का इस्तेमाल किया था। भारत की विश्व कप जीत के बावजूद एक चयनकर्ता एमएस धोनी को वनडे कप्तान के पद से हटाना चाहते थे।

N Srinivasan BCCI IPL IPL 2022 IPL 2008 MS Dhoni 2011 India World Cup Win BCCI President श्रीनिवासन ने एक बार बताया था कि भारत की विश्व कप जीत के बावजूद एक चयनकर्ता एमएस धोनी को वनडे कप्तान के पद से हटाना चाहते थे। (सोर्स- बीसीसीआई)

एन. श्रीनिवासन की इंडिया सीमेंट्स के स्वामित्व वाली फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स ने 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की नीलामी में 15 लाख डॉलर में महेंद्र सिंह धोनी को खरीदा था। दक्षिण भारत की प्रमुख सीमेंट कंपनी ने भारत के तत्कालीन नए पोस्टर बॉय और एकदिवसीय टीम के कप्तान और अपनी अगुआई में भारत को आईसीसी टी20 विश्व कप विजेता बनाने वाले महेंद्र सिंह धोनी के लिए सबसे अधिक बोली लगाई थी।

स्पोर्टस्टार के पहले साउथ स्पोर्ट्स कॉन्क्लेव में बोलते हुए श्रीनिवासन ने खुलासा किया कि सीएसके ने धोनी को कैसे खरीदा। उन्होंने कहा, आईपीएल की नीलामी में मैं पहले दो खिलाड़ियों को खरीदने से चूक गया। मैंने तमिलनाडु के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर वीबी चंद्रशेखर को कमान संभालने के लिए कहा था। मैं किसी भी कीमत पर एमएस धोनी को चाहता था।

उन्होंने कहा, ‘मेरे अंदर आत्मविश्वास होने का कारण यह था कि मुझे लगा कि दूसरे लोग अंकगणित नहीं जानते हैं। उन्होंने हमें बताया था कि आइकन प्लेयर के लिए और 10 फीसदी अधिक देंगे, क्योंकि वे सभी एक आइकन प्लेयर चाहते थे। पंजाब युवराज सिंह, दिल्ली वीरेंद्र सहवाग, बेंगलुरु राहुल द्रविड़ और मुंबई सचिन तेंदुलकर को चाहता था।’

guru transit 2022, jupiter transit 2022

1 साल तक इन राशियों पर रहेगी देवताओं के गुरु बृहस्पति की विशेष कृपा, आकस्मिक धनलाभ और भाग्योदय के प्रबल आसार

Azam Khan| samajwadi party| uttar pradesh|

रामपुर लोकसभा उपचुनाव: मुस्लिम बहुल इलाकों में बीजेपी को मिले कितने वोट, आजम खान के गढ़ में कैसे बदल गया खेल, जानें

agnipath sceame | kanhaiya kumar | modi government

अग्निपथ का विरोध करने पहुंचे कन्हैया कुमार को युवाओं ने कहा- देशद्रोही, हुई मारपीट

rahu transit 2022, rahu gochar 2022

1 साल तक इन 3 राशि वालों को मिलेगा राहु ग्रह का विशेष आशीर्वाद, आकस्मिक धनलाभ और उन्नति के प्रबल योग

उन्होंने मुझसे भी पूछा, ‘लेकिन मैंने कहा नहीं। मेरे पिता ने मुझे कुछ अंकगणित पढ़ाई थी। मुझे पता था कि अगर 5 में से 15 लाख आइकन खिलाड़ी के पास गए तो बाकी 22 खिलाड़ियों को खरीदने के लिए आपके पास क्या बचेगा। धोनी की बोली 400,000 अमेरिकी डॉलर के आधार मूल्य से शुरू हुई। जब बोली 900,000 अमेरिकी डॉलर को पार कर गई तब केवल दो टीमें मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स मैदान में थीं।’ उस समय टीमें अधिकतम 50 लाख डॉलर में ही सभी खिलाड़ियों को खरीद सकती थीं।

श्रीनिवासन ने बताया, ‘मुंबई ने अचानक धोनी के लिए 15 लाख डॉलर की बोली लगा दी। तब उन्हें अहसास हुआ कि उन्हें सबसे महंगे खिलाड़ी की तुलना में 10 प्रतिशत अधिक देना होगा। इसके बाद वे पीछे हट गए। इस तरह एमएस धोनी चेन्नई के पास आए। यह 100 प्रतिशत अंकगणित था। कोई और कारण नहीं है कि हमें वह (धोनी) मिले। अन्य फ्रेंचाइजी को अपने पसंदीदा खिलाड़ी को पाने की चिंता उनकी अंकगणित से अधिक थी।’

धोनी को सुपर किंग्स ने 2022 खिलाड़ियों की नीलामी से पहले 12 करोड़ रुपए में रिटेन किया था। पिछले साल अक्टूबर में चेन्नई सुपर किंग्स के आईपीएल जीतने के तुरंत बाद, श्रीनिवासन ने कहा था कि धोनी हमेशा न केवल फ्रैंचाइजी, बल्कि चेन्नई शहर का भी हिस्सा रहेंगे। श्रीनिवासन ने कहा था, ‘धोनी के बिना कोई सीएसके नहीं है और सीएसके के बिना कोई धोनी नहीं है।’

एमएस धोनी ने 2008 में पहले सीजन से ही चेन्नई सुपर किंग्स का नेतृत्व किया है। इस दौरान उन्होंने चार बार टीम को चैंपियन बनाया। आईपीएल में सीएसके ने 2020 और 2022 को छोड़कर हर सीजन प्लेऑफ में जगह बनाई है।