पुणे में आफत बनकर बरसे बदरा, बह गईं कारें, कई घरों में घुसा पानी

पुणे शहर के कई हिस्सों में रविवार शाम भारी बारिश हुई. इससे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. जलभराव के कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. कई सड़कें जलमग्न हो गई हैं. बावधान इलाके से बहने वाली राम नदी उफान पर है. मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में घाट क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना जताते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.

बता दें कि शाम करीब चार बजे मौसम ने करवट ली. भारी बारिश से कई सड़कें तालाब में तब्दील हो गईं. बावधन इलाके में अफरा-तफरी का माहौल देखने को मिला. लोगों का कहना है कि राम नदी में बीते कई सालों में इतना तेज बहाव नदीं देखा.

बारिश के चलते पुणे के गांव बावधान में निचले इलाकों में कई घरों में पानी घुस गया. कहीं-कहीं पांच फीट तक पानी भर गया है. इससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. उठने-बैठने के साथ ही खाने के लिए भी लोगों को परेशानी उठानी पड़ी है. पानी का बहाव इतना तेज था कि इलाके में खड़े कुछ चार पहिया वाहन 30 से 40 फीट दूर तक बह गए.

पुणे में भारी बारिश

रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बगल में दीवार गिरने से पुणे-कोकण हाईवे से पुणे-मुंबई हाईवे को जोडने वाला रास्ता बंद हो गया. जिसके बाद लोगों ने मोर्चा संभाला और मार्ग को खोलने में जुट गए. स्थानीय नागरिकों ने तुरंत जेसीबी बुलवाई और मलबा हटाकर सड़क को फिर से खोल दिया. इससे पहले इस मार्ग पर जलभराव के चलते कई वाहन फंस गए थे. जिन्हें लोगों ने बहने से बचा लिया.

पुणे में भारी बारिश

एक अधिकारी ने कहा कि रविवार को पुणे शहर और आसपास के इलाकों में भारी बारिश हुई. जिससे 25 स्थानों पर जलभराव हो गया. 10 स्थानों पर पेड़ गिरने की घटनाएं हुईं. हालांकि किसी के घायल होने की खबर नहीं है. मौसम विभाग का कहना है कि शाम साढ़े पांच बजे तक पाषाण और मगरपट्टा में 55.8 मिलीमीटर और 55.5 मिलीमीटर बारिश हुई थी. 

बारिश के इस कहर के कई वीडियो भी वायरल हो रहे हैं. जिसमें कई लोग अपने वाहनों के साथ सड़क पर फंसे हुए दिख रहे हैं. इस दौरान कुछ लोग उनकी मदद के लिए आगे आते हैं.