“पूरी BJP में इकनॉमिस्ट नहीं है…ऐसा भद्दा कमेंट न करें”, बोले जफर इस्लाम- कितनी बार आपके सारे अनुमान गलत साबित हुए; हंसने लगे अर्थशास्त्री

टीवी डिबेट में भाजपा प्रवक्ता सैयद जफ़र इस्लाम ने अर्थशास्त्री संतोष मेहरोत्रा से कहा कि मैं आपके साथ कई बार डिबेट में रहा हूं, आपके कितने अनुमान गलत हुए हैं ये मैं देख सकता हूं।

corona, economic growth, unemployment

देश में जारी कोरोना संकट की वजह से सिर्फ अप्रैल के महीने में 34 लाख लोगों का रोजगार छिन गया है। इतना ही नहीं क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भी वित्त वर्ष 2021-22 के लिए देश की आर्थिक वृद्धि दर के पूर्वानुमान को करीब चार फीसदी घटाकर 9.3 फीसदी कर दिया है। कोरोना की वजह से तबाह हुई अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर एक टीवी डिबेट के दौरान भाजपा प्रवक्ता पैनल में ही मौजूद रहे अर्थशास्त्री पर भड़क गए और कहने लगे कि “पूरी BJP में इकनॉमिस्ट नहीं है…ऐसा भद्दा कमेंट न करें”। साथ ही भाजपा प्रवक्ता ने अर्थशास्त्री से यहां तक कह दिया कि आपके सारे अनुमान कितनी बार गलत साबित हुए हैं,ये मुझे पता है। 

आजतक न्यूज चैनल पर आयोजित डिबेट शो के दौरान एंकर नेहा बाथम ने भाजपा प्रवक्ता सैयद जफ़र इस्लाम से सवाल पूछते हुए कहा कि सभी लोग आरोप लगा रहे हैं कि सरकार पहले से कोरोना महामारी को लेकर तैयार नहीं थी। इसपर जवाब देते हुए भाजपा प्रवक्ता ने डिबेट में मौजूद रहे अर्थशास्त्री संतोष मेहरोत्रा से कहा कि आप इस तरह के भद्दे कमेंट मत करिए कि भारतीय जनता पार्टी में एक भी इकनॉमिस्ट नहीं है। इस तरह के कमेंट लोगों की नजर में आपका कद नीचा कर देते हैं। 

आगे भाजपा प्रवक्ता सैयद जफ़र इस्लाम ने अर्थशास्त्री संतोष मेहरोत्रा से कहा कि मैं आपके साथ कई बार डिबेट में रहा हूं, आपके कितने अनुमान गलत हुए हैं ये मैं देख सकता हूं। जिसपर अर्थशास्त्री संतोष मेहरोत्रा हंस पड़े। भाजपा प्रवक्ता के ऐसा कहने पर एंकर नेहा बाथम ने उन्हें टोकते हुए कहा कि इस तरह के पर्सनल कमेंट ना करें। इसपर भाजपा प्रवक्ता ने अगर कोई पार्टी के बारे में ऐसी बात करेंगे तो मैं पर्सनल कमेंट करूंगा। ये कहना कि पार्टी में कोई इकनॉमिस्ट नहीं.. ये गलत है।

बता दें कि अमेरिकी रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विसेज ने फरवरी में 2021-22 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर के 13.7 फीसदी रहने का अनुमान जताया था। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के प्रकोप की वजह से उन्होंने आर्थिक वृद्धि दर के पूर्वानुमान को संशोधित किया। अब आर्थिक दर के वित्त वर्ष 2021-22 में 13.7 प्रतिशत से घटकर 9.3 फीसदी रहने का अनुमान है। हालांकि मूडीज ने कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में अर्थव्यवस्था पर कम प्रभाव पड़ने की उम्मीद जताई है।

भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3,26,098 नए मामले सामने आए जबकि 3890 लोगों की मौत इस महामारी की वजह से हो गई। संक्रमण के नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 2 करोड़ 43 लाख से ऊपर हो गई है जबकि अब तक 266207 लोगों की मौत इस महामारी की वजह से हो चुकी है। वहीं पिछले 24 घंटे में 3,53,299 लोग डिस्चार्ज भी किए गए हैं।