पृथ्वी शॉ, श्रेयस अय्यर के फेल होने के बाद सूर्यकुमार यादव और शार्दुल ठाकुर ने गेंदबाजों को कूटा, नॉकआउट में पहुंची मुंबई

Vijay Hazare Trophy 2020-21: इस जीत से मुंबई का लीग चरण में अजेय अभियान बरकरार रहा। मुंबई ने इससे पहले दिल्ली, महाराष्ट्र, पुडुचेरी और राजस्थान को शिकस्त दी थी।

Suryakumar Yadav Shardul Thakur Vijay Hazare Trophy Prithvi Shaw Shreyas Iyer

Vijay Hazare Trophy: मुंबई ने विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट नॉकआउट में प्रवेश किया। उसने 1 मार्च को एलीट ग्रुप डी के अपने अंतिम मैच में जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में हिमाचल प्रदेश को 200 रन से हरा दिया। इस जीत से मुंबई का लीग चरण में अजेय अभियान बरकरार रहा। मुंबई ने इससे पहले दिल्ली, महाराष्ट्र, पुडुचेरी और राजस्थान को शिकस्त दी थी।

इस मैच में मुंबई ने टॉस जीता और बल्लेबाजी का फैसला किया। हालांकि, मुंबई के कप्तान श्रेयस अय्यर और दोनों ओपनर पृथ्वी शॉ और यशस्वी जायसवाल टीम को बढ़िया शुरुआत देने में असफल रहे थे। तीनों बल्लेबाज सिर्फ 2-2 रन ही बना पाए थे। टीम 8 रन पर तीन विकेट गंवा चुकी थी। इसके बाद सूर्यकुमार यादव और शार्दुल ठाकुर ने गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। विकेटकीपर आदित्य तारे ने भी दोनों को बढ़िया साथ निभाया। इन तीनों की शानदार पारियों के दम पर मुंबई ने 50 ओवर में नौ विकेट पर 321 रन बनाए।

इसके जवाब में हिमाचल की टीम लेग स्पिनर प्रशांत सोलंकी (31 रन पर चार विकेट) और शम्स मुलानी (42 रन पर तीन विकेट) के फिरकी के जादू के बावजूद सिर्फ 121 रन पर ढेर हो गई। मुंबई की शुरुआत बेहद खराब रही। यशस्वी जायसवाल को ऋषि धवन (84 रन पर चार विकेट) ने प्रवीण ठाकुर के हाथों कैच कराया, जबकि पृथ्वी को वैभव अरोड़ा ने पवेलियन भेजा। धवन ने अय्यर को पगबाधा करके मुंबई को तीसरा झटका दिया। सरफराज भी 11 रन बनाने के बाद पवेलियन लौट गए। इससे टीम का स्कोर 49 रन पर चार विकेट हो गया।

इसके बाद सूर्यकुमार ने मोर्चा संभाला और 75 गेंद में 15 चौकों की मदद से 91 रन की पारी के दौरान कई आकर्षक शॉट खेले। उन्होंने तारे (98 गेंद में 83 रन, छह चौके और एक छक्का) के साथ पांचवें विकेट के लिए 99 रन जोड़कर पारी को संभाला। सूर्यकुमार के 31वें ओवर मे आउट होने के बाद तारे और शार्दुल ने छठे विकेट के लिए 112 रन की साझेदारी की। शार्दुल ने 57 गेंद में 92 रन की पारी के दौरान छह छक्के और इतने की चौके मारे। शार्दुल की आक्रामक बल्लेबाजी की बदौलत मुंबई की टीम 300 रन के आंकड़े को पार करने में सफल रही।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे हिमाचल की शुरुआत भी बेहद खराब रही। टीम ने धवल कुलकर्णी (आठ रन पर दो विकेट) और मोहित अवस्थी (19 रन पर एक विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने चार रन तक ही तीन विकेट गंवा दिए। सलामी बल्लेबाज रवि ठाकुर (03) और प्रशांत चोपड़ा (01) के अलावा निखिल गंगटा (00) सस्ते में पवेलियन लौटे। हिमाचल की टीम इस खराब शुरुआत से कभी नहीं उबर पाई और पूरी टीम 24.1 ओवर में ढेर हो गई। मयंक डागर नाबाद 38 रन के साथ टीम के शीर्ष स्कोरर रहे।